योगी सरकार में लूट, हत्या,अपहरण की घटनायें आम : शिवपाल


इटावा : समाजवादी पार्टी के पूर्व मंत्री शिवपाल सिंह यादव ने आज कहा कि उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार के सत्तारूढ होने के बाद अपराध में अभूतपूर्व तेजी दर्ज की गयी है और लूट, हत्या, अपहरण की घटनायें आम हो चुकी हैं। इटावा जिला जेल में अपने समर्थकों से मिलने के बाद श्री यादव ने पत्रकारों से कहा कि योगी सरकार अपराध और अपराधियों से नियंत्रण खो चुकी है। अपराधी बेखौफ हो चुके है जबकि पुलिस निरंकुश हो गयी है। यह गंभीर चिंता  का विषय है। स्थिति विस्फोटक होने से पहले प्रशासन को इस पर नियंत्रण करने की जरूरत है।

                                                                                                     source

उन्होंने कहा कि शाम छह बजे से नौ बजे तक पुलिस चेकिंग  के नाम पर वसूली की जाती है।जिन लोगों के पास वाहनों के कागज भी है तब भी रोक लिया जाता है। चेकिंग  के नाम पर समाज के भले लोगो की बेइज्जती हो रही है। इस तरह से कोई भी पुलिस पर भरोसा नही करेगा। भले लोगो का पुलिस से विश्वास उठता जा रहा है। पुलिस अपराधी और दलाल लोगो पर भरोसा करेगी तो उसे कभी कामयाबी नहीं मिलेगी। जेलों में काफी लोग फर्जी मुकदमों में बंद है। जसंवतनगर के भट्टा कारोबारी गिरीश यादव के अपहरण के मामले में उन्होने कहा कि अभी तक पुलिस कोई सुराग नहीं लगा पाई है।

                                                                                                   source

इटावा पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए श्री यादव ने कहा कि यहां की पुलिस कोई काम नहीं कर रही है हाथ पर हाथ धरे हुए बैठी है। इसलिए अभी तक पुलिस कोई भट्टा कारोबारी का सुराग नहीं लगा सकी है। वह सिर्फ झूठी तसल्ली ही दे रही है। गिरीश यादव के अपहरण से नगर क्षेत्र का सामाजिक सौहार्द बिगड़ रहा है। पूर्व मंत्री ने कहा कि पुलिस प्रशासनिक गायब हुए भोले यादव की खोजबीन में तुरंत प्रभावी और ठोस कदम उठाए। इससे पहले नौ जून को श्री यादव अपने निर्वाचन क्षेत्र जसवंतनगर मे पुलिस उत्पीडऩ की घटनाओं को लेकर अपने पैतृक सैफई थाने में धरने पर बैठे थे।

                                                                                                    source

गौरतलब है कि सैफई थाने मे हंगामा और उपद्रव करने के कारण 40 से अधिक शिवपाल समर्थको के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जा चुका है। इससे पहले गत तीन मई को पुलिस पर समर्थक के उत्पीडऩ का आरोप लगाते हुए शिवपाल सिंह यादव वैदपुरा थाने में धरने पर करीब पांच घंटे धरने पर बैठे रहे।