किसानों के शोषण पर बोले योगी


लखनऊ : योगी आदित्यनाथ ने आज कहा कि किसानों का शोषण किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा और किसानों के हितों की अनदेखी करने वाले अधिकारियों पर कड़ी कार्रवाई भी की जाएगी । राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने बताया कि गेहूं क्रय की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि किसानों को शासन द्वारा घोषित पूरा समर्थन मूल्य दिलाना सुनिश्चित किया जाए। इसके अंतर्गत किसी किसान हक़ नहीं मारा जायेगा, यदि किसी क्रय केन्द, पर गरीब किसान का हक मारा गया तो प्रभारी के खिलाफ कठोर कार्यवाही की जाएगी।
उन्होंने कहा कि 15 जून तक किसानों से गेहूं की खरीद की जाए। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के भौतिक लक्ष्यों के अनुसार लाभान्वित होने वाले किसानों की सूची जनप्रतिनिधियों को उपलब्ध करायी जाए ताकि वे मौके पर वास्तविकता का पता लगा सकें। ”राज्य सरकार किसानों के हित में कार्य कर रही है और उनका शोषण कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

योगी ने बुन्देलखण्ड क्षेत्र में अधिक से अधिक जल संचयन के लिए चौकडेम निर्माण तथा खेत तालाब योजना को प्राथमिकता से लागू करने के निर्देश दिए हैं ताकि आगामी वर्षों में इस क्षेत्र के लोगों को पेयजल की समस्या का सामना न करना पड़े। मुख्यमंत्री ने ये निर्देश चित्रकूटधाम मण्डल के विकास कार्यों एवं कानून-व्यवस्था की समीक्षा करते हुए कलेक्टे्रट सभागार, बांदा में सम्पन्न बैठक में दिए। उन्होंने कहा कि बुन्देलखण्ड क्षेत्र में एक्सप्रेस-वे का निर्माण कराया जायेगा, जिससे यह पूरा इलाका विकास की मुख्य धारा में सम्मिलित हो सके।