3 तलाक पर कानून से मुस्लिम महिलाओं की दशा बदलेगी


3-divorce

देहरादून: मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने गुरूवार को मुख्यमंत्री आवास में उत्तराखंड राज्य महिला आयोग द्वारा आयोजित आजादी के बाद महिलाओं की दशा एवं दिशा विषय पर द्वि-दिवसीय सेमिनार के समापन कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में प्रतिभाग किया। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार महिला स्वयं सहायता समूहों को सशक्त करने हेतु शीघ्र ही विशेष योजना पर कार्य करेगी। सरकार द्वारा महिलाओं की स्थिती मजबूत करने हेतु कौशल विकास, उत्पादन शक्ति में महिलाओं के योगदान, उद्यमशीलता को प्रोत्साहित करने के प्रयासों पर विशेष फोकस किया जा रहा है।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र द्वारा माता मंगला माता, कल्पना चौहान, उर्वशी रौतेला, अनुकृति गुसांई, हर्षवन्ती बिष्ट, बसन्ती बिष्ट को विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट योगदान हेतु सम्मानित किया गया। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने उपस्थित अन्य राज्यो की महिला आयोग अध्यक्षो को स्मृति चिहन देकर सम्मानित भी किया। इस अवसर पर उत्तराखंड राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष सरोजनी कैन्तुरा के साथ ही जम्मू कश्मीर, उड़ीसा, छतीसगढ़, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात महिला आयोग की अध्यक्ष उपस्थित थी।

देश और दुनिया का हाल जानने के लिए जुड़े रहे पंजाब केसरी के साथ।

– सुनील तलवाड़