मां गंगा के नाम पर मध्यप्रदेश के सभी नागरिक पौध लगायें-रावत


अनूपपुर: उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द सिंह रावत ने कहा कि गंगा एवं नर्मदा जैसी नदियों से ही भारत को विश्व गुरू कहा जाता है। श्री रावत आज यहां यह बात आयोजित नमामि देवि नर्मदे सेवा यात्रा के जन-संवाद कार्यक्रम में कहीं। मुख्यमंत्री चौहान को नदी संरक्षण के लिए चलाये गये विश्व के सबसे बड़े अभियान नमामि देवी नर्मदे के लिए बधाई दी। उन्होंने कहा कि नर्मदा नदी के कारण ही मध्यप्रदेश की कृषि उत्पादन वृद्धि दर देश में सर्वाधिक है।

उन्होंने कहा कि इतने बड़े प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की व्यस्तताओं के बावजूद शिवराज सिंह चौहान ने न केवल नदी संरक्षण का व्यापक अभियान प्रारंभ किया बल्कि गत 5 माह से लगभग हर दिन इस यात्रा में वे शामिल हो रहे हैं जो अत्यंत सराहनीय है। उन्होंने कहा कि हमारे पूर्वज हमें पवित्र व सदानीरा नदियाँ विरासत में दे गये थे और हम अपनी आने वाली पीढिय़ों को क्या प्रदूषित नदियाँ विरासत में देंगे? उन्होंने कहा कि नदियाँ तो हर देश में होती हैं लेकिन केवल भारत में ही नदियों की पूजा की जाती है। उन्होंने कहा कि श्री चौहान द्वारा प्रारंभ किए गए इस नमामि देवि नर्मदे अभियान को प्रकृति का भी आशीर्वाद मिल रहा है। यही कारण है कि आज मई माह की भीषण गर्मी में भी तेज धूप नहीं है बल्कि हल्की फुहार से ग्रामीणजन आनंदित हो रहे हैं।

केन्द्रीय पर्यावरण राज्य मंत्री अनिल माधव दवे ने कहा कि नदियों को प्रदूषणमुक्त बनाने का दायित्व देश व प्रदेश के हर नागरिक का है। उन्होंने सभी से अपील की कि नदियों के आसपास गंदगी न करें। यदि कोई गंदगी करता पाया जाये तो उसका सख्ती से विरोध करें।

(वार्ता)