धरनारत श्रमिकों को कांग्रेस का समर्थन


रुद्रपुर: लगातार 40 वें दिन ऐरा कारखाने के समक्ष में धरने पर बैठे ऐरा कंपनी के सैंकड़ों श्रमिकों, उनके परिवारों व बच्चों ने आज कांग्रेस के वरिष्ठ नेता डीके सिंह एवं सुशील गाबा एवं श्रमिक नेता नितिन धामी के नेतृत्व में कलक्ट्रेट में क्रांग्रेस पार्टी के धरना स्थल पर पहुंचकर पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत, नेता प्रतिपक्ष डा. इंदिरा हृदयेश, कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह व पूर्व मंत्री तिलक राज बेहड़ के नाम संबोधित ज्ञापन सौंपा। श्रमिकों ने ऐरा प्रबंधन मुर्दाबाद, एएलसी चौहान मुर्दाबाद, जिला प्रशासन न्याय करो के जोरदार नारों के बीच कांग्रेस नेताओं से सहयोग की अपील की तो कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने ऐरा कंपनी के धरनारत कर्मचारियों को समर्थन दिया।

युवा कांग्रेस नेता सुशील गाबा ने प्रदेश की कांग्रेस आलाकमान को श्रमिकों की पीड़ा से अवगत कराते हुए कहा कि श्रमिकों को पांच माह से उनकी पगार नहीं दी जा रही है। उनके भूख से तड़प रहे बीबी-बच्चे भी कलक्ट्रेट परिसर में 27 दिनों से धरना देने को मजबूर हैं। हालात इतने खराब है कि विगत चार दिनों से इन बच्चों में से ही एक नौ वर्षीय बच्ची नैन्सी श्रम विभाग के एएलसी चौहान नामक अधिकारी उन्हें यह कह रहे हैं कि उनके भूख से तड़प रहे बच्चों की जिम्मेवारी श्रम विभाग की नहीं है, उन्हें तो श्रम विभाग को श्रमिकों के हितों की रक्षा के लिए जिम्मेवारी दी गई थी, लेकिन जिले का श्रम विभाग पूरी तरह से उद्योगपतियों के प्रतिनिधि व मैनेजर के रूप में कार्य कर रहा है।

उन्हें न तो श्रमिकों का उत्पीड़न दिखाई देता है, न ही श्रम कानूनों का उल्लघंन। पांच माह से श्रमिकों को वेतन नहीं मिला है, जिससे उनके परिवार भुखमरी के कगार पर आ गये है, लेकिन पूरा प्रशासन उद्योगपतियों के आगे नतमस्तक है। इस दौरान सुरेश कुमार, जगदीश सिंह, गौरव गांधी, इन्द्रजीत नारंग, वीशू अरोरा, हीरा सागर, अमित शर्मा, सतेन्द्र कुमार, माया देवी, गंगा देवी, दीपा देवी सहित सैंकड़ो श्रमिक व परिजन मौजूद थे।