ड्राइवर ने ट्रांसपोर्ट इंचार्ज को गोली मारी


रुद्रपुर: मामूली विवाद पर एक स्कूल बस के ड्राइवर ने स्कूल के ही ट्रांसपोर्ट इंचार्ज को गोली मार दी। स्कूल परिसर में एकाएक हुई फायरिंग से वहां अफरातफरी मच गई। घायल ट्रांसपोर्ट इंचार्ज को आनन-फानन में एक निजी नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया है। घटना के बाद ड्राइवर फरार हो गया। स्कूल के एमडी ने पुलिस को मामले की तहरीर दी है। आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। मॉडल कालोनी स्थित स्कूल में दूधिया नगर वार्ड संख्या चार निवासी हरीश पुत्र रामअवतार स्कूल बस का ड्राइवर है। बताया गया कि हरीश से बस की बीती शाम चाबी कहीं खो गई।

इस पर हरीश ने शुक्रवार की सुबह करीब साढ़े सात बजे स्कूल के ट्रांसपोर्ट इंचार्ज गांधी कालोनी निवासी कैलाश चंद्र बौड़ाई (55) पुत्र बालादत्त बौड़ाई से बस की चाबी खो जाने की बात कहते हुए दूसरी चाबी मांगी। इस पर ट्रांसपोर्ट इंचार्ज कैलाश ने चाबी खो जाने का एक प्रार्थना पत्र स्कूल के नाम देने के बाद ही नई चाबी मिलने की बात कही गई। इस पर हरीश की कैलाश से तीखी नोंकझोंक हो गई। जिसके चलते वहां लोगों और शिक्षकों का जमावड़ा लग गया। उस समय तो हरीश वहां से चला गया, लेकिन थोड़ी देर बाद ही बसों के पास खड़े ट्रांसपोर्ट इंचार्ज कैलाश को तमंचा निकालकर सीधे गोली मार दी। गोली सीधे उनकी जांघ में जा घुसी।

कैलाश गोली लगने के बाद वहीं गिरकर तड़फने लगे। गोली की आवाज सुनकर वहां लोगों का जमावड़ा लग गया, जबकि स्कूल के शिक्षक एवं बच्चे भी वहां एकत्र हो गए। घटना के बाद आरोपी ड्राइवर तमंचे के साथ फरार हो गया। स्कूल प्रबंधन ने घायल को समीप के ही संजीवन हॉस्पिटल ले गए। जहां प्राथमिक उपचार के बाद घायल को जिला अस्पताल रैफर कर दिया गया। चिकित्सकों के मुताबिक घायल ट्रांसपोर्ट इंचार्ज की हालत खतरे से बाहर है। इधर, घायल का आरोप है कि बस ठेकेदार के इशारे पर उस पर हमला हुआ है। चूंकि वो इससे पूर्व भी ठेकेदार की दो बसें निकाल चुके हैं।

– सुरेन्द्र तनेजा