चारों धामों को आपस में रेल सर्किट से जोड़ा जायेगा : मुख्यमंत्री


देहरादून: उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि प्रदेश के चारों धामों, बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री को आपस में जोडऩे के लिये रेल सर्किट विकसित किया जायेगा। यहां जारी एक सरकारी विज्ञप्ति के अनुसार मुख्यमंत्री ने बताया कि रेल मंत्री सुरेश प्रभु 13 मई को बदरीनाथ में इस सर्किट का शिलान्यास करेंगे। उन्होंने बताया कि इस सर्किट से सोनप्रयाग और जोशीमठ को भी जोड़ा जायेगा।

उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले में लिंगानुपात की स्थिति को खराब बताते हुए मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को जिले के लिये विशेष योजना बनाने के निर्देश भी दिये। इस संबंध में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा वर्ष 2015 में पानीपत से ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ अभियान शुरू करने का भी जिक्र किया और कहा कि इसके बाद वहां बेटियों का अनुपात 837 से बढ़कर 950 तक पहुंच गया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस मामले में जनजागरूकता जरूरी है और जो भी कन्या भ्रूण हत्या में संलिप्त पाया गया, उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जायेगी। रावत ने अगले तीन वर्ष में राज्य में 500 मेगावाट सौर ऊर्जा उत्पादन का लक्ष्य रखे जाने की जानकारी देते हुए कहा कि वर्ष 2018 तक सभी परिवारों तक बिजली पहुंचा दी जायेगी। मुख्यमंत्री ने बताया कि वर्तमान में सवा लाख परिवार ऐसे हैं जिन्हें मुख्य ग्रिड से बिजली पहुंचाना संभव नहीं हो पा रहा है। उन्होंने कहा कि ऐसे परिवारों को ऑफ ग्रिड से बिजली उपलब्ध करायी जायेगी।

-भाषा