पलायन रोकने के लिए सरकार कर रही काम : त्रिवेंद्र


trivendr

पिथौरागढ़ : उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद, सिंह रावत ने आज कहा कि पर्वतीय क्षेत्रों से हो रहे पलायन को रोकने के लिए सरकार कृषि और औद्योगिक क्षेत्रों में कई काम कर रही है। श्री त्रिवेंद, ने पिथौरागढ़ जिले के जौलजीवी में जौलजीवी मेला एवं विकास प्रर्दशनी-2017 का उद्घाटन करते हुए 57 करोड़ 98 लाख 52 हजार रुपये की लागत के कुल 27 निर्माण कार्यों का शिलान्यास एवं लोकापर्ण किया। उन्होंने कहा कि किसानों की आय को वर्ष 2022 तक दोगुना करने के उद्देश्य से सरकार द्वारा लघु एवं सीमांत किसानों को दो प्रतिशत के सस्ते ब्याज दर पर एक लाख रुपये तक का कृषि ऋण दिया जा रहा है।

 मुख्यमंत्री ने कहा कि सीमांत क्षेत्र धारचूला एवं मुनस्यारी में सगंध खेती के लिए अनुकूल वातावरण है। इन गांवों में सोसाइटी बनाकर सगंध खेती कर स्थानीय स्तर पर स्वरोजगार के अवसर बढ़गे। उन्होंने व्यवसायिक खेती को प्रोत्साहित किये जाने की बात कही। उन्होंने कहा कि सीमांत क्षेत्र के विकास हेतु केन्द, एवं राज्य सरकार द्वारा अनेक विकास योजनायें संचालित की जा रही है। सीमांत क्षेत्रों में संचार एवं कनैक्टिविटी की बेहतर सुविधा मुहैया कराने के उद्देश्य से बैलून तकनीक का प्रयोग किया जायेगा। श्री त्रिवेंद, ने कहा कि बेहतर स्वास्थ्य सुविधा प्रदान किये जाने हेतु राज्य के 12 चिकित्सालयों में टेलीरेडियोलॉजी की सुविधा उपलब्ध करायी जा रही है।

राज्य में बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए राज्य सरकार प्रतिबद्ध है। इस अवसर पर श्री त्रिवेंद, ने क्षेत्र के विकास के लिए बलुवाकोट डिग्री कॉलेज में आगामी शिक्षा सत्र से स्नाकोत्तर की कक्षाएं प्रारम्भ किये जाने, सोसा में मिनी स्टेडियम का निर्माण किये जाने, तवाघाट में तटबंध निर्माण, नगर पंचायत धारचूला के ग्वालगांव में सिवर लाईन निर्माण, धारचूला में पं.दीनदयाल उपाध्याय पार्क का निर्माण, दूतीबगड़-जौलजीबी में पंचायत घर का निर्माण, बलुवाकोट डिग्री कॉलेज में मिनी स्टेडियम के निर्माण, दारमा-चैदास व्यासघाटी में ट्रेकिंग मार्ग का निर्माण, तांकुल में मिनी स्टेडियम के निर्माण, धारचूला नगर पालिका क्षेत्रान्तर्गत पार्किंग निर्माण एवं हाईटेक शौचालय का निर्माण तथा मुनस्यारी विकास खंड के साइपोलो में पेयजल लाईन के निर्माण की घोषणाएं कीं। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने जौलजीबी मेला एवं विकास प्रर्दशनी को पांच लाख रुपये देने की भी घोषणा की।