पहाड़ाें में जीएसटी की छूट बढ़े


मसूरी: कुलड़ी स्थित एक होटल के सभागार में कस्टम और उत्पाद शुल्क विभाग ने होटल व्यवसायियों एवं व्यापारियों की बैठक ली जिसमें जीएसटी के बारे में विस्तार से जानकारी देकर जागरूक किया गया। वहीं बताया कि भविष्य में इसका व्यापारियों सहित सरकार को लाभ होगा। बैठक में उपायुक्त अमित भारद्वाज केद्रीय कस्टम और उत्पाद शुल्क विभाग एवं सुप्रीन्टेंडेंट एन.के. मिश्रा ने होटलियर्स एवं व्यापारियों को विस्तार से जीएसटी के प्राविधानों व इससे होने वाले लाभ हानि की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि आने वाले एक जुलाई से यह लागू हो जायेगा, इसलिए व्यापारियों को इसकी पूरी जानकारी दी जा रही है ताकि वे परेशान और न भयभीत हों। उन्होंने बताया कि 17 करों को एक कर जीएसटी बनाया गया है। जिसमें 20 लाख से अधिक सेल करने वालों को इसके दायरे में रखा गया है वहीं पहाड़ों पर यह दायरा 10 लाख किया गया है। अभी भले ही लोगों की समझ में यह नही आ पा रहा है लेकिन यह भविष्य के लिए बहुत उपयोगी है। इस मौके पर उन्होंने व्यापारियों की शंकाओं को दूर किया व सवालों के उत्तर देकर संतुष्ट किया।

इस मौके पर उपायुक्त अमित भारद्वाज ने कहा कि यह केंद्र सरकार की योजना है तथा इसके दूरगामी परिणाम सुखद होंगे इसमें घबराने की कोई जरूरत नहीं है। इस मौके पर होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष आरएन माथुर ने कहा कि पहाड़ों पर जीएसटी की सीमा छूट 10 लाख की गई है जबकि देश के मैदानी इलाकों में यह छूट 20 लाख की है। इससे पहाड़ के व्यवसायियों को नुकसान उठाना पडे़गा। जबकि एक ओर सरकार एक टैक्स की बात कर रही है तो इसमें भी एक जैसा होना चाहिए। इस मौके पर व्यापार संघ अध्यक्ष रजत अग्रवाल एवं महामंत्री जावेद खान ने कहा कि प्रगतिशील देश में जीएसटी जरूरी है यह विश्व के अनेक देशों में लागू है इससे जहां व्यापारियों को अलग अलग टैक्स के लिए भटकना पड़ता था अब नहीं भटकना पडे़गा। वहीं सरकार को लाभ होने के साथ व्यापारियों को भी इसका लाभ मिलेगा।कार्यक्रम के अंत में व्यापार संघ महामंत्री जावेद खान ने सभी का आभार व्यक्त किया। इस मौके पर संदीप साहनी, जगजीत कुकरेजा, दीपक गुप्ता, संजय अग्रवाल, रवींद्र गोयल, विनेश संघल, विभाग के सुप्रीन्टेंडेट एमएस चौहान, इंस्पेक्टर मोहित अग्रवाल, संजीव गुप्ता, विकास कुमार, सहित व्यापारी व होटलियर्स आदि मौजूद रहे।

– हरीश कालरा