हरीश रावत उपवास पर


देहरादून: गैरसैंण भावना का अपमान करने के विरूद्ध कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत विधानसभा के पास लगाये गये बैरीकैडिंग पर उपवास पर रहे। वहीं कार्यकर्ताओं ने प्रदेश सरकार की जन विरोधी नीतियों के खिलाफ जमकर प्रदर्शन करते हुए धरना दिया। इस अवसर पर वक्ताओं ने कहा कि राज्य सरकार का अब तक कार्यकाल निराशाजनक रहा है और लगातार जन विरोधी निर्णय लिये जा रहे है जो चिंताजनक है। गैरसैंण भावना का अपमान करने के विरूद्ध कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत विधानसभा के पास लगाये गये बैरीकैडिंग पर उपवास पर रहे, वहीं कार्यकर्ताओं ने प्रदेश सरकार की जन विरोधी नीतियों के खिलाफ जमकर प्रदर्शन करते हुए धरना दिया।

इस अवसर पर पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि कांग्रेस सरकार ने विधानसभा में संकल्प लिया था कि गैरसैंण में अगला विधानसभा बजट सत्र आहूत किया जायेगा लेकिन प्रदेश की भाजपा सरकार ने इस संकल्प की अवमानना की है, यह सरकार का निर्णय था न की कांग्रेस पार्टी का और तत्कालीन विधानसभा अध्यक्ष ने उस पर अपनी मुहर लगाई थी। लेकिन भाजपा सरकार ने गैरसैंण की जनता की भावनाओं का अनादर किया है जिसे जनता माफ नहीं करेगी। पूर्व में तीन बार गैरसैंण में सत्र भी आहूत किया गया है और वहां पर विधानसभा भवन, सचिवालय, विधायकों एवं अधिकारियों के लिए आवास की पूर्ण रूप से व्यवस्था है लेकिन सरकार का कहना है कि वहां पर सुविधायें नहीं है की बात करना जनता की भावनाओं का अनादर करना है।

– जावेद, सुनील