अलर्ट रहते हुए कार्य करने के निर्देश


देहरादून: जिलाधिकारी एस.ए मुरूगेसन की अध्यक्षता में जिलाध्किारी कैम्प कार्यालय में वर्तमान में मानसूनकाल में अतिवृष्टि, भस्खलन, जलभराव इत्यादि घटनाओं को देखते हुए लो.नि.वि, पी.एम.जी.एस.वाई, एन.एच तथा सिंचाई विभाग के अधिकारियों के साथ क्षतिग्रस्त सड़क, सम्पर्क मार्ग, मकान सुरक्षा दीवार, जल निकासी से सम्बन्धित ऐसे कार्य जिनकों जनहित में तात्कालिक रूप से राहत प्रदान करना अनिवार्य है, के सम्बन्ध में बैठक आयोजित करते हुए आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने लो.नि.वि को जनपद में बन्द पड़े सड़क मार्गों को तत्काल चालू करने के लिए युद्धस्तर पर कार्य करने तथा मानसूनकाल में समस्त निर्माण खण्डों को अलर्ट रहने के निर्देश दिये ताकि किसी भी प्रकार के छोटे-मोटे निर्माण कार्यों को पूर्ण किया जा सके।

उन्होंने सिंचाई विभाग के अधिकारियों को वर्षा से कई क्षेत्रों में हुए जल भराव, छोटे-मोटे लीकेज को तात्कालिक रूप से दुरस्थ करने बरसात को देखते हुए अलर्ट रहते हुए कार्य करने के निर्देश दिये। उन्होने सम्बन्धित विभागीय अधिकारियों को सम्बन्धित क्षेत्र के उप जिलाधिकारी से समन्वय स्थापित करते हुए बरसात से क्षतिग्रस्त हुए सम्पर्क मार्ग तथा जल निकासी व्यवस्था को दुरस्थ करने हेतु सतर्कता के साथ कार्य करने के निर्देश दिये।

जिलाधिकारी ने लोनिवि, एनएच तथा पी.एम.जी.एस.वाई के अधिकारियों को शहर में अवैध रूप से फुटपाथ, नालियों के उपर निर्माण तथा किये गये अतिक्रमण को नगर निगम, नगर पालिका से समन्वय स्थापित करते हुए ऐसे अवैध निर्माण को चिन्हिकरण करते हुए रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिये ताकि अवैध निर्माण कार्यों को ध्वस्त करते हुए सड़क मार्ग को अतिक्रमणमुक्त किया जा सके। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी गिरिधारी सिंह रावत, अपर जिलाधिकारी वीर सिंह बुदियाल एवं अरविन्द पाण्डेय, उप जिलाधिकारी सदर प्रत्युष सिंह, अधीक्षण अभियन्ता लो.नि.वी ए.एस भण्डारी, अधिशासी अभियन्ता सिंचाई डी.एस कच्छवाहा व डी.के सिंह, जिला आपदा प्रबन्धन अधिकारी दीपशिखा रावत सहित सम्बन्धित विभागीय अधिकारी एवं कार्मिक उपस्थित थे।

– सुनील तलवाड़