महाशिवरात्रि पर जागेश्वर धाम में देश के विभिन्न कोनों से आये श्रद्धालुओं ने किया जलाभिषेक


नैनीताल : महाशिवरात्रि के पावन मौके पर कुमाऊं के प्रसिद्ध मंदिरों में दिनभर श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। खासकर अल्मोड़ स्थित शिव धाम जागेश्वर, नैनीताल के नयना देवी मंदिर एवं घोड़खाल गोले मंदिरों में खासी भीड़ रही। जागेश्वर धाम में देश के विभिन्न कोनों से आये श्रद्धालुओं ने जलाभिषेक एवं शिवार्चन किया।

दिल्ली के छतरपुर से आये एक दंपत्ति ने कहा जागेश्वर धाम के महात्म्य को सुनकर वह यहां आये हैं। दंपति रात को अल्मोड़ में रुक कर सुबह यहां दर्शन के लिये आये। जागेश्वर धाम में सावन महीने एवं खासकर आज के दिन पूजा पाठ एवं दर्शन करने का बड़ महत्व है। इसलिये यहां सुबह से ही श्रद्धालुओं की भीड़ जुटना शुरू हो गई थी। इस दौरान मंदिर में पहुंचे श्रद्धालुओं ने जलाभिषेक कर विशेष पूजा अर्चना की। यहां उत्तराखंड के अलावा विभिन्न क्षेत्रों से श्रद्धालुओं ने दर्शन किये एवं विशेष पूजा अर्चना की। मान्यता है कि शिवरात्रि पर दर्शन मात्र एवं पूजा अर्चना से मनोकामना पूर्ण होती है और संतान की प्राप्ति होती है।

देश के विभिन्न हिस्सों से आई महिलाओं खासकर नव दंपतियों ने व्रत रखकर मंदिर में विशेष पूजा अर्चना की। नैनीताल के घोड़खाल स्थित गोलू मंदिर एवं नैना देवी मंदिर में भी श्रद्धालुओं की खासी भीड़ देखी गयी। मंदिरों में सुबह चार बजे से ही दर्शनार्थियों का आना शुरू हो गया था। श्रद्धालुओं में पूजा-अर्चना को लेकर काफी उत्साह देखा गया।

अन्य विशेष खबरों के लिए पढ़िये पंजाब केसरी की अन्य रिपोर्ट।