खराब मौसम के चलते कैलाश तीर्थयात्रियों के कदम पिथौरागढ में ठिठके 


पिथौरागढ : उत्तराखंड के पिथौरागढ जिले में पिछले कई दिनों से हो रही बारिश और खराब रोशनी के कारण कैलाश मानसरोवर यात्रा के सातवें बैच के 57 तीर्थयात्री पिछले छह दिनों से गुंजी के लिए उडान भरने का इंतजार कर रहे हैं । गुंजी के रास्ते में चियालेख घाटी में घने कोहरे के कारण हैलीकाप्टर उडान नहीं भर पा रहा है । यात्रा की नोडल एजेंसी कुमांउ मंडल विकास निगम के एक उच्च पदस्थ अधिकारी ने बताया कि लिपुलेख दर्रे के जरिये इस बैच को कल तिब्बत में प्रवेश करना है लेकिन वह अभी तक गुंजी ही नहीं पहुंच पाया है । गुंजी में भी बैच कम से कम चार दिन मौसम के अनुकूल होने तथा मेडिकल चेकअप के लिए रूकना होगा ।

उन्होंने कहा कि बैच की तिब्बत प्रवेश की 14 जुलाई की तारीख बीत जाने की पूरी संभावना को देखते हुए अब नोडल एजेंसी को फिर से इसके लिए एक नयी तारीख लेनी होगी । अधिकारी ने कहा,’ विदेश मंत्रालय ने हमें सूचित किया है कि सातवें बैच के गुंजी पहुंच जाने के बाद चीनी अधिकारियों से उसके तिब्बत प्रवेश के लिए नयी तारीख मांगी जायेगी ।’ इस बीच, तीसरे और चौथे बैच के तीर्थयात्री कैलाश मानसरोवर यात्रा पूरी करके गुंजी लौट आये हैं । हांलाकि, वे भी पिथौरागढ के लिए उडान भरने का इंतजार कर रहे हैं ।