अनशन पर बैठे मंत्री समर्थक


हरिद्वार: नाले की दीवार तोड़े जाने का मामला शांत होने का नाम नहीं ले रहा है। कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज के समर्थक प्रेमनगर आश्रम के मुख्य गेट पर आमरण अनशन पर बैठे हुए हैं। समर्थक मांग कर रहे हैं कि मेयर मनोज गर्ग द्वारा कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज को अपशब्द बोले गये हैं तथा प्रेमनगर आश्रम के मुख्य गेट पर कूड़ा फिकवाया गया है। हमारी मांग है कि मेयर मनोज गर्ग कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज से माफी मांगे और गेट के बाहर डाला हुआ कूड़ा तुरंत उठवाया जाये। आश्रम प्रबन्धक मेयर समर्थकों पर मारपीट का आरोप लगा रहे हैं। साथ ही मुख्य गेट पर फैली व्याप्त गंदगी से काफी नाराज है। समर्थकों का कहना है कि मेयर सहित उनके समर्थकों द्वारा आश्रम के लोगों को मारा पीटा गया, नाले की दीवार पूर्व नोटिस के बगैर ही तोड़ दी गईं जो कि औचित्यपूर्ण नहीं है।

अगर जल्द ही मेयर मनोज गर्ग ने कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज से माफी नहीं मांगी और आश्रम के मुख्य गेट से कूड़ा नहीं उठवाया तो यह आमरण अनशन निरन्तर चलता रहेगा। गौरतलब है कि मूसलाधार बरसात के दौरान पाश कालोनी क्षेत्र खन्ना नगर में जलभराव के दौरान मौके पर पहुंचे मेयर मनोज गर्ग से पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज के समर्थकों ने मारपीट कर दी। देखते ही देखते महाराज व कबीना मंत्री मदन कौशिक के समर्थकों के बीच विवाद बढ़ गया। दोनों पक्षों में लाठियां चली और पथराव भी हुआ। पुलिस ने इस दौरान हल्का लाठीचार्ज भी किया। बता दें कि सतपाल महाराज के प्रेमनगर आश्रम के ठीक बराबर में पॉश कालोनी खन्ना नगर स्थित है। सुबह हुई बारिश के दौरान हरिद्वार की सड़कें जलमग्न हो गईं। खन्ना नगर में भी घुटनों से उपर पानी भर गया।

जल भराव की स्थिति का जायजा लेने मेयर मौके पर पहुंचे तो वहां मौजूद भीड़ का आरोप था कि प्रेमनगर आश्रम के अतिक्रमण के चलते ही कालोनी में जलभराव की नौबत आ रही है। आरोप है कि आश्रम की ओर से नाले पर भी कब्जा किया गया है। इससे पानी की निकासी रुक गई है। आरोप है कि आश्रम से सतपाल महाराज के समर्थक डंडे लेकर बाहर निकले और उन्होंने मेयर के साथ ही कौशिक समर्थकों पर हमला बोल दिया। इससे मेयर चोट आई। उन्हें सिटी मजिस्ट्रेट जयभारत सिंह ने किसी तरह बचाकर अस्पताल पहुंचाया। इस दौरान दोनों पक्षों में तीखी नोकझोंक के साथ ही पथराव भी किया गया।

– संजय चौहान, तनवीर