एडीबी के कार्यों पर विधायकों ने जताई नाराजगी


नई टिहरी: टिहरी जिला पंचायत की बैठक में जनप्रतिनिधियों ने एडीबी के द्वारा जनपद में किए जा रहे सड़कों के डामरीकरण, सुधारीकरण कार्यो पर सवाल उठाते हुए उच्चस्तरीय जांच की मांग करते हुए इस एजेंसी से कार्य वापस लेने की मांग की। उन्होंने कहा कि लंबे समय से जिला पंचायत से लेकर बीडीसी की बैठकों में एडीबी की सड़कों की शिकायत की जा रही है, लेकिन कार्यो में सुधार नहीं हो रहा है। टिहरी विधायक धन सिंह नेगी और घनसाली विधायक शक्तिलाल शाह ने भी एडीबी के कार्यों पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि जल्द ही शासन स्तर से जांच बिठाई जाएगी, बैठक में नवनिर्वाचित जिला पंचायत सदस्य गायत्री देवी एवं फू ला देवी को शपथ दिलाई गई।

जिला पंचायत अध्यक्ष सोना सजवाण की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में विधायकों से लेकर अधिकांश सदस्यों ने एडीबी की कार्य प्रणाली पर सवाल उठाए, अध्यक्ष श्रीमती सजवाण सहित भिलंगना के प्रमुख विजय गुनसोला ने टिपरी-गडोलिया व घनसाली-अखोड़ी, सदस्य बीना सजवाण ने घनसाली-छतियारा मोटर मार्ग में एडीबी पर घटिया गुणवत्ता का आरोप लगाया। जिलाधिकारी सोनिका ने भी एडीबी कार्यों की शिकायत को गंभीरता से लेते हुए कार्रवाही का भरोसा दिया, उन्होंने निर्माण एजेंसियों को कहा कि जिस मार्ग का निर्माण किया जा रहा है, वहां पर बोर्ड लगाकर लागत, लंबाई, धनराशि, कार्य पूर्ण होने की तिथि आदि का विवरण अंकित करने के निर्देश दिए।

विधायक धन सिंह नेगी और शक्तिलाल शाह ने सदन में उठाई जानी वाली समस्याओं का निराकरण प्राथमिकता से करने के निर्देश दिए, सदस्य मुरारीलाल खंडवाल ने चांठी-डोबरा पुल के निर्माण में हो रही देरी एवं केंद्र सरकार के हिस्से की धनराशि न मिलने पर कड़ा रोष व्यक्त किया। इस मौके पर श्याम सिंह पंवार, सीडीओ आशीष भटगांई, प्रमुख बेबी असवाल, विनीता बिष्ट, उदय रावत, केदार बर्थवाल, अखिलेश उनियाल, अनिल भंडारी, शांति शाह, विजयलक्ष्मी, जमुना नौटियाल, देवेश्वरी जुयाल, उर्मिला नेगी, अर्चना पुंडीर, सरस्वती, बबीता, कृष्णा आदि मौजूद थे। बैठक का संचालन अपर मुख्य अधिकारी मनवर सिंह राणा ने किया।

– प्रमोद चमोली