अब कटी दस महिलाओं की चोटी


किच्छा: किच्छा के पुलभट्टा थाना क्षेत्रांर्गत मात्र 3 कि.मी. के दायरे में अलग-अलग जगहों पर महज 15 घंटे के भीतर महिलाओं की चोटी काटने के तीन मामले प्रकाश में आयें है। चोटी काटने के बाद महिलाएं बेहेशी की हालत में मिली, जिन्हे इस्तेफाक से एक ही निजी चिकित्सालय में भर्ती कराया गया। जहां चिकित्सक द्धारा तीनों की जांच में एक समानता पाये जाने की बात कही है। इन घटनाओं से एक ओर जहां क्षेत्र में दहशत का माहौल व्याप्त है। वहीं दूसरी ओर पुलिस के लिए ऐसी घटनाए सिरदर्द बनी हुई हैं। इस मामले में किच्छा कोतवाल योगेश उपाध्याय का कहना है कि लोग किसी भी तरह से किसी के बहकावे में न आये।

पुलिस मामले पर कड़ी नजर रखे हुए है और किसी की शरारती पायी गई तो उसके विरूद्ध कड़ी कार्रवाई की जायेगी। इधर पहली घटना गत सांय लगभग 7 बजे की बतायी जा रही है जब थाना पुलभट्टा क्षेत्रांर्गत शंकर फार्म निवासी मेवाराम की पत्नी श्यामा देवी अपने घर के मुख्य द्वार पर अचानक गिरी मिली। बताया जाता है कि श्यामा देवी के पति मेवाराम घर के अंदर बैठे थे, चीख सुनकर वो श्यामा देवी की तरफ भागे, देखा तो उन्होंने श्यामा देवी की चुटिया कटी हुई एक ओर पड़ी थी जबकि श्यामा देवी बेहोश होकर पास ही पड़ी थी। जिसे बदहवासी में लाईफ लाईन अस्पताल में भर्ती कराया गया। बता दें कि पुलभट्टा के गरम सुतईया निवासी सुमन किच्छा गन्ना कृषक महाविद्यालय में बीए द्धितीय वर्ष की छात्रा है।

गत दिवस उसके भतीजे का जन्म दिन था जिसके चलते पूरा परिवार जश्न मना रहा था। इसी बीच रात के लगभग 11 बजे घर की गैलरी से सुमन के चीखने की आवाज आई जिसको सुनकर सभी गैलरी की ओर दौडे। इस दौरान उन्होंने सुमन को टायॅलेट के समीप गैलरी में बदहवास होकर गिरा पाया तथा उसके सिर के बाल खीचें हए थे। आनन फानन में सुमन को अस्पताल लाया गया, जहां उसका उपचार जारी है। इसके अलावा तीसरी घटना ग्राम भंगा में आज प्रातः की है। बताया जाता है कि भंगा निवासी आशिया पत्नी असलम अपने घर के आंगन में चूल्हा जलाने के लिए लकडी तोड रही थी इस दौरान उसे ऐसा लगा कि कोई बिल्ली उसके कंधे पर आकर बैठी है। जैसे ही वह कुछ समझ पाती कि उसे महसूस हुआ कि किसी ने धक्का दिया ह और वह बेहोश हो गई। जिसे उपचार के लिए चिकित्सालय ले जाया गया।

– सुरजीत कामरा