न्याय पंचायतें नई टाउनशिप बनेंगी


cm-rawat

देहरादून : मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने शुक्रवार को दून विश्वविद्यालय देहरादून में डाॅ.नित्यानन्द हिमालयी शोध एवं अध्ययन केन्द्र का भूमि पूजन कर शिलान्यास किया। 0.39 हैक्टेयर भूमि पर 15 करोड़ रूपये की अनुमानित लागत से निर्मित होने वाले इस शोध एवं अध्ययन केन्द्र का निर्माण ब्रिडकुल द्वारा किया जायेगा। मुख्यमंत्री ने उम्मीद जतायी कि इस हिमालयी शोध एवं अध्ययन केन्द्र के भवन का निर्माण कार्य एक वर्ष में पूर्ण कर लिया जायेगा।

मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि डाॅ.नित्यानन्द जी ने एक साधक की तरह मन, वचन एवं कर्म से समाज सेवा की। उनका हिमालय से बेहद अनुराग था। हिमालय सबके लिए आकर्षण का केन्द्र रहा है। हिमालय पर बहुत कुछ अध्ययन किया जा चुका है और अभी भी बहुत अध्ययन करने की जरूरत है। मुख्यमंत्री ने कहा कि पलायन को रोकने के लिए शिक्षा, स्वास्थ्य और रोजगार सबसे महत्वपूर्ण है।

इस अवसर पर दून विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो.चन्द्रशेखर नौटियाल एवं आर.एस.एस.के सह-सरकार्यवाहक डाॅ. गोपाल कृष्ण ने भी कार्यक्रम को सम्बोधित किया। कार्यक्रम में विधायक हरबंस कपूर, विनोद चमोली, खजान दास, भाजपा के अध्यक्ष अजय भट्ट, विश्व हिन्दू परिषद के दिनेश चन्द्र, भाजपा नेता विनय गोयल, सुनील उनियाल ‘गामा’ एवं विभिन्न विश्वविद्यालयों के कुलपति एवं शिक्षाविद् उपस्थित थे।

देश की हर छोटी-बड़ी खबर जानने के लिए पढ़े पंजाब केसरी अखबार।

– सुनील तलवाड़