पंचेश्वर बांध मामला तूल पकड़ा


पिथौरागढ़: भारत और नेपाल के मध्य बहने वाली काली नदी पर बनने वाली पंचेश्वर परियोजना की डीपीआर (डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट) ने डूब क्षेत्र में आने वाले गांवों के ग्रामीणों को आंदोलित कर दिया है। डीपीआर की रिपोर्ट की जानकारी मिलते ही ग्रामीण इसके विरोध में उतर चुके हैं। रविवार को काली नदी घाटी के बलतड़ी गांव में एकत्रित बारह ग्राम पंचायतों के ग्रामीणों ने वापकोस कंपनी द्वारा तैयार डीपीआर को खारिज करते हुए सरकार से बांध निर्माण प्रक्रिया तत्काल रोकने को कहा है।

पंचेश्वर बांध डूब क्षेत्र प्रभावित संघर्ष समिति महाकाली नदी क्षेत्र समिति के बैनर तले रविवार की दोपहर को बारह गांवों बौनकोट, पीपलतड़ा, तड़ीगांव, डाकुला, बलतड़ी, मनानीगाड़, अमखोला, बसेड़ा, सीमू, कानड़ी , रज्यूड़ा, झूलाघाट आदि क्षेत्र के ग्रामीण जमा हुए। इस मौके पर पंचेश्वर परियोजना के लिए वापकोस कंपनी द्वारा तैयार डीपीआर को सिरे से नकार दिया गया। इस डीपीआर को डूब क्षेत्र के प्रभावितों की भावनाओं के साथ मजाक बताते हुए इसे मानने से इन्कार किया गया। ग्रामीणों ने कहा कि सरकार यदि पुनर्वास और विस्थापन की सही नीति नहीं बना सकती है तो पंचेश्वर बांध परियोजना के निर्माण प्रक्रिया पर तत्काल रोक लगाए।