लोहड़ी मेले में पंजाबी संस्कृति की धूम


lohri-mela

किच्छा: किच्छा में लोहड़ी के पर्व के चलते मेले का आयोजन बडे़ धूमधाम के साथ किया गया। इस अवसर पर मेले में बाहर से आये कलाकारों ने पंजाबी संस्कृति पर आधारित तमाम सांस्कृतिक एंव रंगारंग कार्यक्रमों ने समा बांध दिया। इस दौरान मेेले में पंजाबी व्यजनों के स्टाल भी लगाये गये जिन पर लोगों की भारी भीड़ रही। पंजाबी महासभा द्धारा नगर के गुंजन पैलेस में आयोजित मेला देर रात तक चलता रहा, जिसमें नगर के सेंट पीटर स्कूल, गुरूकुल स्कूल सहित तमाम स्कूलों के बच्चो ने अपनी सुदंर प्रस्तुतियों से दर्शकों का मन मोह लिया। कार्यक्रम में अलीशा अरोरा के अपने पंजाबी गीतों पर लोगों को थिरकने पर मजबूर कर दिया।

सांस्कृतिक कार्यक्रमों के बीच मेला परिसर में पवित्र लोहडी जलाई गई जिसके चारो ओर लोग घेरा बनाकर बैठे रहे। इस दौरान दर्शकों में लोहड़ी के प्रसाद में मूंगफली, पॉपकोरन, किसमिस, बादाम लखनऊ की सुगंधित रेबडी, गचक व छुआरे आदि का वितरित किये गये। मेले में लगें लजीज पंजाबी व्यंजनों का भी लोगों ने जमकर लुत्फ उठाया। इस दौरान कार्यक्रम में पधारे बतौर मुख्य अतिथि रूद्रपुर विधायक राजकुमार ठुकराल ने कहा कि पंजाबी समाज के लोगों ने अपने खून की आहूति देकर देश को आजाद कराने मे महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

इसके अलावा देश के तमाम ऐसे दुर्गम स्थानों पर अपनी मेहनतकशी से बंजर भूमि को उपजाऊ बनाकर देश को कृषि प्रधान देश बनाया। इस मौके पर मुख्य रूप से ओमप्रकाश दुआ, निर्मल सिंह, विनोद कुमार, ग्रीश चिटकारा, श्रीमती शैली फुटेला, भजन सिंह चुघ, राजेन्द्र सिंह कामरा, रवि अरोरा, राजा सुखीजा, कुदंन लाल खुराना, प्रीतम सिंह, अशोक, केवल कृष्ण, लकी, महेन्द्र सहित सैकड़ों की संख्या में लोग मौजूद थे।

अधिक जानकारियों के लिए बने रहिये पंजाब केसरी के साथ।

– सुरजीत कामरा