लगड़ासू में बारिश से तबाही,मलबे में दबे मकान


नैनबाग: पहाड़ों में हो रही लगातार मूसलाधार बारिश से जौनपुर विकासखंड के ग्राम लगड़ासू में भारी नुकसान हुआ है। गांव के ऊपर से जा रही थत्यूड़ कैम्पटी रोड़ का मलवा बहने से गांव के चार मकानों में मलवा घुस गया किसी तरह गांव वालों ने जिंदगी व मौत के बीच संघर्ष कर रात काटी। सरकारी विभागों की संवेदनहीनता का आलम यह है कि 12 घंटे बीतने के बाद भी कोई गांव की सुध लेने नहीं पहुंचा। जौनपुर विकासखंड के ग्राम लगड़ासू में मूसलाधार बारिश के कारण मध्यरात्रि को थत्यूड़ कैम्पटी रोड़ का मलबा गांव में आने के बाद चार ग्रामीणों के मकानों को भारी नुकसान पहुचा है।

क्षेत्र पंचायत सदस्य सुरेंद्र सिंह रावत ने बताया कि गर रात्रि भारी बारिश के बाद रोड़ का मलवा गांव के सुल्तान सिंह पुत्र जबर सिंह, सोबत सिंह पुत्र पंचम सिह, बैजराम सिंह पुत्र सुंदर सिंह सहित जेई देवी पत्नी पूरण सिंह रावत के मकान में मलवा आने से घर का सारा सामान खराब हो गया व गौशालाएं ध्वस्त हो गई। वहीं गांव के मस्तू दास पुत्र मुन्ना दास के खेतों में मलबा आने से पूरी खेती खत्म हो गई। गांव में आफत की बारिश आने से जब पानी व मलबा घरों में घुसा तो किसी तरह ग्रामीणों ने रात को जान बचाकर सुरक्षित स्थानों का रूख किया।

क्षेत्र पंचायत सदस्य सुरेन्द्र सिंह रावत ने मांग की कि ग्रामीणों की सुरक्षा की व्यवस्था की जाय तथा जिनका नुकसान हुआ है उनको मुआवजा दिया जाय। उन्होंने कहा कि रोड़ बनने से पहले ही मेरे द्वारा लिखित विभाग को दिया था कि गांव की सुरक्षा के लिए सुरक्षा दीवार बनाई जाये व मलबे को डंप किया जाय। लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई जिसका खामियाजा ग्रामीणों को भुगतना पड़ रहा है। वहीं मलबा आने से गांव के सभ पानी के स्रोत भी बर्बाद हो गये हैं।