डिजिटल सेवा से जुड़ेंगे कोषागार के अभिलेख


digital-Service

नैनीताल : प्रदेश सरकार के वित्त विभाग से प्राप्त निर्देशो के क्रम में मौजूदा वित्तीय वर्ष में कोषागारों से सरकारी लेन देन के साथ सरकारी अभिलेखो का डिजिटाइजेशन होगा। कोषागारों से आहरित होने वाले सभी देयक डिजिटल व्यवस्था के अन्तर्गत आयेंगे इसके साथ राजकीय सेवकों की सेवा पुस्तिका, भविष्य निधि, सभी प्रकार के अवकाश डिजिटल व्यवस्था के अधीन होंगे। इस व्यवस्था से पेपर वर्क लगभग समाप्त हो जायेगा, वहीं कोषागार एवं विभागों के समय की बचत भी होगी तथा सभी प्रकार के अभिलेख एवं सूचनाये सुरक्षित एवं शु़द्ध होंगे।

यह जानकारी जिलाधिकारी विनोद कुमार सुमन ने नैनीताल कोषागार से सम्बद्व आहरण वितरण अधिकारियों को जिला सभागार में आयोजित प्रशिक्षण कार्यक्रम के दौरान दी। उन्होंने कहा कि सेवा पुस्तिका के डिजिटाइजेशन से पूर्व उसको अद्यतन अनिवार्य रूप से कर लें। मुख्य कोषाधिकारी अनिता आर्या ने कहा कि कोषागारों को पेपर लैस बनाने एवं सभी प्रकार के अभिलेख एवं लेनदेन डिजिटल सेवा से जोडे जायेंगे इससे जहां वित्तीय लेनदेन सुगम होगा वही कार्मिको के अभिलेख भी सुरक्षित रहेंगे। इस व्यवस्था के लिए कोषागारों मे आईएफएमएस साफ्टवेयर शीघ्र लागू होगा। उन्होने कहा कि सभी आहरण वितरण अधिकारी अपने कार्यालय के सभी कर्मचारियों के अभिलेखों को साफ्टवेयर मे अपलोड करेंगे तथा कार्यालय मे डिजिटल लेनदेेने हेतु आपरेटर के साथ ही सुपरवाइजर को नामित करेंगे, जिनके एकाउन्ट आधार से लिंक होंगे, आधार लिंक होने के उपरान्त ही आईडी जनरेट होगी तभी लेेनदेन सम्भव हो पायेगा।

उन्होंने सभी आहरण वितरण अधिकारियों एवं लेखा सम्वर्ग के कर्मचारियों से कहा कि वे कर्मचारियों के इम्प्लाई मास्टर एवं ई-सर्विस बुक, एवं ई-भविष्य निधि खाता का अपडेट एवं अपलोड करने का कार्य सावधानी पूर्वक करें ताकि त्रुटिहीन डाटा तैयार हो सके। प्रशिक्षु वित्त अधिकारी गौरव पाण्डे ने प्रतिभागियों को डाटा प्रोजेक्टर के माध्यम से सम्बन्धित साफ्टवेयर व डिजिटल अभिलेख तैयार करने का विस्तार से प्रशिक्षण दिया। प्रशिक्षण कार्यक्रम में जिला विकास अधिकारी रमा गोस्वामी, उप जिलाधिकारी प्रमोद कुमार, जिला शिक्षा अधिकारी एचएल गौतम, पुलिस क्षेत्राधिकारी विजय थापा, जिला पूर्ति अधिकारी तेजबल सिंह, मुख्य कृषि अधिकारी धनपत कुमार सहित सभी आहरण-वितरण अधिकारी, सुपरवाइजर उपस्थित थे।

देश की हर छोटी-बड़ी खबर जानने के लिए पढ़े पंजाब केसरी अखबार।

– संजय तलवाड़