ग्लोबल वार्मिंग पर विश्व को संदेश देगी रिद्धिमा


हरिद्वार: ग्लोबल वार्मिंग जैसे वैश्विक सवाल को लेकर नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) में याचिका दाखिल कर सुर्खियों में आई नौ साल की रिद्धिमा की पर्यावरण के प्रति गहरी समझ का लोहा फ्रांस ने भी माना है। ग्लोबल वार्मिंग को लेकर वह क्या महसूस करती है। इससे निबटने के लिए बालमन में क्या चल रहा है। इस पर वह तीन नवंबर को पेरिस में होने वाली कॉन्फ्रेंस में अपनी बात रखेगी। इसका आयोजन फ्रांस लिबर्टीज समेत अन्य संस्थाओं की ओर से किया जा रहा है, जिसमें भारत से रिद्धिमा को भी आमंत्रित किया गया है। इसे लेकर वह बेहद उत्साहित है। बताते चलें कि रिद्धिमा को पर्यावरण और जंगल की समझ विरासत में मिली है।

हरिपुर कलां (रायवाला) की रहने वाली रिद्धिमा के पिता दिनेश चंद्र पांडेय वन्यजीव संरक्षण के लिए कार्य करने वाली संस्था वाइल्ड लाइफ ट्रस्ट आफ इंडिया में फील्ड आफीसर और मां विनीता पांडेय वन विभाग के हरिद्वार डिवीजन में कार्यरत हैं। जाहिर है कि घर में जंगल, पर्यावरण और वन्यजीवों के संरक्षण को लेकर अक्सर चर्चा होती रहती है। बालमन पर इसका भी असर पड़ा। वर्तमान में भूपतवाला स्थित बीएमडीएवी पब्लिक स्कूल में कक्षा छह की यह छात्रा आज पर्यावरण और वन्यजीवों को लेकर अपने सवालों से विशेषज्ञों को भी अचरज में डाल देती है।

– संजय चौहान