टीमवर्क ही सफलता का मूलमंत्र: राज्यपाल


देहरादून: राजभवन में पांच दिवसीय टाॅपर्स कान्क्लेव का विधिवत समापन हुआ। इस अवसर पर राज्यपाल डाॅ. कृष्ण कांत पाल ने अपने सम्बोधन में कहा कि जीवन में सफल होने के लिए इंटेलीजेंस कोशिएंट (आई.क्यू.) की बजाय इमोशनल कोशिएंट (ई.क्यू) अधिक महत्वपूर्ण है। टीम लीडर बनकर सबको साथ लेकर चलने की योग्यता ही समाज में स्थान दिलाती है। बड़े कामों में सफलता टीमवर्क से ही मिलती है। जीवन में सफल होने के लिए मौजूदा संसाधनों व परिस्थितियों में ही काम करना होता है। अच्छी पुस्तकें चरित्र निर्माण में सहायक होती हैं। राज्यपाल ने कहा कि हमेशा आई.क्यू की बात की जाती है। परंतु इससे भी अधिक महत्वपूर्ण ई.क्यू अर्थात ईमोशनल कोशिएंट है। हम कितना अपने आप को हमारे दोस्तों, परिवार व समाज से जोड़ पाते हैं।

एक योग्य टीम लीडर वहीं है जो कि सबको साथ लेकर आगे बढ़ने की योग्यता रखता हो। व्यक्तित्व के सम्पूर्ण विकास के लिए मोबाईल, वाट्सएप की आभासी दुनिया से बाहर आकर लोगों से व्यक्तिगत सम्पर्क बहुत जरूरी है। राज्यपाल ने कहा कि संसाधनों की हमेशा कमी बनी रहती है। कभी भी आदर्श स्थिति नहीं होती है। जीवन में सफल होने के लिए वर्तमान परिस्थितियों को स्वीकार करके उपलब्ध संसाधनों व कठोर परिश्रम व बुद्धिमत्ता से ही काम करना होता है। राज्यपाल ने कहा कि छात्रों को अच्छी पुस्तकें पढ़नी चाहिए। अच्छी पुस्तकों से अच्छे विचार विकसित होते हैं, इससे वाणी व कर्म पर अच्छा प्रभाव पड़ता है। इससे अच्छी आदतें विकसित होती हैं जिसका प्रभाव अच्छे चरित्र के रूप में सामने आता है।

– सुनील तलवाड़