गैरसैंण को राजधानी न बनाने के लिए जनता भी जिम्मेदार


bhatt

ऋषिकेश : राजधानी गैरसैंण को न बनाए जाने के लिए जा भारतीय जनता पार्टी सबसे बड़ी दोषी है वहीं राज्य की जनता भी इसके लिए जिम्मेदार है यह विचार उत्तराखंड क्रांति दल के केंद्रीय अध्यक्ष दिवाकर भट्ट ने यहां चल रही केंद्रीय कार्यकारिणी की दो दिवसीय बैठक के दौरान पत्रकारों से बातचीत के दौरान व्यक्त किए उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी राज्य मे सबसे पहले सत्ता सुख भोगने वाली राजनीतिक पार्टी है उनका कहना था यदि राज्य की पहली केयरटेकर सरकार भारतीय जनता पार्टी 1 लाइन का प्रस्ताव पारित कर देती, तो आगे आने वाली सरकारें उस पर अमल करती।

इसी के कारण जनता के साथ बहुत बड़ा छलावा किया गया है उसी को कांग्रेस भी अमल में लायी दिवाकर भट्ट ने कहा कि आज राज्य में अधिकांश विद्यालयों पर ताले पड़ रहे हैं जिसका कारण विद्यालय को सुचारु रुप से न चलाया जाना है। जिनमें ना अध्यापक है न पढ़ने वाले छात्र, उन्होंने राज्य सरकार पर सीधा हमला बोलते हुए कहा कि सरकार की गलत नीतियों के कारण आज पहाड़ का युवा आत्महत्या करने के लिए मजबूर हो रहा हैं, जबकि विधानसभा में बैठकर विधायक व मंत्री अपने वेतन व भत्ते बढ़ाने पर लगे हैं दिवाकर भट्ट का कहना था कि आज सभी संविदा पर कार्यरत बेरोजगार नवयुवकों का भी भविष्य अंधकार में हैं उन्होंने मांग की कि जो लोग संविदा पर कार्य कर रहे हैं उन्हें सरकार शीघ्र स्थाई करें जिससे उनका भविष्य सुरक्षित रह सके उनका कहना था राज्य की राजधानी गैर सैण न बनने के लिए राज्य की जनता भी उतनी ही दोषी है जितनी अब तक सत्ता का सुख भोग चुकी कांग्रेस व भाजपा है।

उन्होंने कहा कि अब उत्तराखंड क्रांति दल पूरे प्रदेश में स्थानीय निकायों व निगम के चुनाव दमदार तरीके से लड़ेगी इसके लिए पूरी पार्टी कमर कस चुकी है। दिवाकर भट्ट ने नगर पालिका क्षेत्र में पढ़ने वाली तमाम मलिन बस्तियों को स्थाई किए जाने की भी सरकार से मांग की है।

अन्य विशेष खबरों के लिए पढ़िये पंजाब केसरी की अन्य रिपोर्ट।

– विक्रम सिंह