हल्द्वानी में एक करोड़ की हेरोइन जब्त के साथ दो गिरफ्तार


arrested

हल्द्वानी : उत्तराखंड में नैनीताल जिले के हल्द्वानी में गोलापार से आ रहे एक वाहन की जांच के दौरान एक करोड़ रुपये की हेरोइन जब्त कर दो तस्करों को गिरफ्तार कर लिया। जिले को नशामुक्त करने के लिए नैनीताल के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) द्वारा मादक पदार्थों की तस्करी करने वालों पर नकेल कसने के लिए गठित’एंटी ड्रग्स स्क्वायड’ टीम ने कल रात बरेली एवं पीलीभीत के दो तस्करों को दबोचकर एक करोड़ रुपये की हेरोइन बरामद की। यह कुमाऊँ क्षेत्र में पुलिस टीम द्वारा पकड़ी गई मादक पदार्थों की सबसे बड़ी खेप है।

स्क्वायड टीम को रात्रि में मुखबिर से सूचना मिली थी कि गौलापार की तरफ से बरेली व पीलीभीत के कुछ तस्कर आल्टो कार में सवार होकर मादक पदार्थ की एक बड़ी खेप लेकर हल्द्वानी की ओर आ रहे हैं। इस सूचना पर नैनीताल की एंटी ड्रग्स स्क्वायड टीम हरकत में आई और काठगोदाम पुल पर उपनिरीक्षक मनोहर सिंह पांगती के नेतृत्व में पुलिस टीम ने गौलापार की तरफ से आ रहे वाहनों की सघन तलाशी करना प्रारम्भ कर दिया।

चैकिंग के दौरान रात्रि करीब ज्ञारह बजे पुलिस टीम को एक आल्टो कार यूपी-26आर-2627 आती दिखाई दी। पुलिस टीम ने जब कार को रूकने का इशारा किया तो कार चालक ने कार की गति बढ़ा दी। पुलिस टीम ने पीछा कर घेराबन्दी कर आखिरकार कार रूकवा ली और कार में मौजूद दो युवकों एवं कार की तलाशी ली तो उसमें डबल टाइगर ब्रांड 555 हेरोइन मेड इन थाईलैण्ड लिखे पाउडरनुमा दो पैकेट बरामद हुए। पैकेटों का वजन 786 ग्राम निकला जिनका मूल्य अन्तर्राष्ट्रीय बाजार में एक करोड़ है। पुलिस अधीक्षक (सिटी) अमित श्रीवास्तव ने बताया कि पकड़े गये अभियुक्तों में से एक सर्वेन्द, कुमार उर्फ सर्वेश पीलीभीत जिले का निवासी है तथा दूसरा अभियुक्त धर्मेन्द्र कुमार बरेली जिले का निवासी है।

पूछताछ में अभियुक्तों ने बताया कि वे दिल्ली और बरेली से हेरोइन लाकर कुमाऊँ के विभिन्न स्थानों पर बेचते हैं। एसपी सिटी ने बताया कि पुलिस इन लोगों के आपराधिक इतिहास की जानकारी इनके गृह जनपदों से हासिल कर रही है तथा पुलिस उन लोगों की तलाश में जुटी है जिन्हें ये तस्कर हेरोइन बेचने आये थे। इतनी बड़ी मात्रा में हेरोइन पकडऩे वाली पुलिस टीम को डीआईजी अजय रौतेला और एसएसपी जनमेजय खंडूरी ने क्रमश: पाँच हजार एवं ढाई हजार रूपये ईनाम देने की घोषणा की है।