संसद में आज से शुरू हो रहे मानसून सत्र की कार्यवाही सुचारु रूप से शुरू हो चुकी है। लोकसभा और राज्यसभा में नवनिर्वाचित सांसदों का शपथ ग्रहण करी। जिसके बाद लोकसभा और राज्यसभा में उत्तराखंड बस हादसा, अफगानिस्तान में आतंकी हमलों को लोकसभा में निंदा की गई, साथ ही दिवंगतों के प्रति मौन रखकर उन्हें श्रद्धांजलि दी गई। लोकसभा में प्रशन काल शुरू होते ही लिंचिंग मुद्दे पर हंगामा शुरू हो गया है। लोकसभा में टीडीपी और वाईएसआर कांग्रेस के सांसद सदन में जमकर नारेबाजी कर रहे हैं।

आंध्र प्रदेश के लिए विशेष राज्य के दर्जे की मांग, सीपीएम ने सदन में दलित और ओबीसी का मुद्दा उठाया। कार्यवाही शुरू होने से पहले पीएम मोदी ने कहा इस मानसून सत्र में राष्ट्र के हित में कई महत्वपूर्ण निर्णय संसद में किए जाएंगे। हम सभी अनुभवी सदस्यों से अच्छे सुझाव और चर्चा के लिए आशा करते हैं। उन्होंने कहा है कि सबका साथ मिलने से लाभ मिलेगा। लोकसभा में स्पीकर ने सदन को बताया कि विभिन्न मुद्दों पर स्थगन प्रस्ताव मिले हैं लेकिन किसी के भी प्रस्ताव को स्वीकार नहीं किया गया है। वहीं राज्यसभा में सभापति ने टीडीपी सांसद से कहा कि आप मुझपर हुक्म नहीं चला सकते। उन्होंने कहा कि लंबे अंतराल के बाद प्रश्न काल हो रहा है इसमें बाधा न डालें।

स्वीकार हुआ अविश्वास प्रस्ताव

लोकसभा में टीडीपी सांसद की ओर से दिए गए अविश्वास प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया गया है। सुमित्रा महाजन ने 50 से ज्यादा सांसदों के समर्थन की गिनती की और आगे चर्चा के लिए वक्त तय करने का एलान करने की बात कही।

गौरतलब है की मंगलवार को पीएम नरेंद्र मोदी ने लोकसभा अध्यक्ष की बुलाई सर्वदलीय बैठक में मानसून सत्र में संसद को चलाने में सभी दलों खासतौर से विपक्ष से सहयोग की अपील की। वहीं तेदेपा (TDP) मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने की तैयारी कर रही है। बता दें, विपक्ष इस बार सदन में किसानों की आत्महत्या, भ्रष्टाचार, मॉब लिंचिंग और महंगाई जैसे मुद्दे उठाने की तैयारी में है। आरजेडी के नेता जयप्रकाश यादव का कहना है कि हम चाहते हैं सदन चले, लेकिन जो जरूरी मुद्दे हैं उनको विपक्ष सदन में उठाएगा।

चाहे मॉब लिंचिंग का मुद्दा हो या भ्रष्टाचार का मुद्दा, सरकार से सवाल तो पूछे जाएंगे। इस बैठक के बाद लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने भी सभी दलों की बैठक बुलाई है। इस बार का संसद सत्र 18 जुलाई से शुरू होकर 10 अगस्त तक चलेगा। राज्‍यसभा के सभापति वेंकैया नायडू ने भी आज शाम 5:30 बजे राज्यसभा के फ्लोर लीडर्स की बैठक बुलाई है। सदन के कामकाज को सुचारू रुप से चलाने के लिए यह बैठक बुलाई गई है। वेंकैया नायडू सभी फ्लोर लीडर्स से सहयोग की बात करेंगे।