भारत ने टास जीतकर बल्लेबाजी का फैसला किया। हनुमा विहारी को बाहर रखकर छठे बल्लेबाज के तौर पर रोहित शर्मा को टीम में जगह दी गई। आस्ट्रेलियाई टीम के लिये मार्कस हैरिस ने टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण किया। भारत ने लंच तक चार विकेट 56 रन पर गंवा दिये थे। जोश हेजलवुड ने 28 रन देकर दो विकेट लिये और आस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाजों ने नयी कूकाबूरा गेंद से नियमित अंतराल पर विकेट चटकाये। पहले सत्र के 27 ओवर में भारतीय शीर्षक्रम क्रीज पर पैर जमा ही नहीं सका।

दोनों सलामी बल्लेबाजों में से केएल राहुल (दो) के पास आस्ट्रेलियाई गेंदबाजों की रफ्तार का कोई जवाब नहीं था। वह दूसरे ओवर में गैर जिम्मेदाराना शाट खेलकर तीसरी स्लिप में हेजलवुड को कैच दे बैठे। मुरली विजय (11) बेहतर दिख रहे थे लेकिन रनगति बढाने के प्रयास में विकेट गंवा बैठे।

सातवें ओवर में विजय ने स्टार्क को कवर ड्राइव लगाने की कोशिश की लेकिन चूके और विकेट के पीछे टिम पेन को कैच दे दिया। इसके बाद कप्तान विराट कोहली क्रीज पर आये जो आत्मविश्वास से भरे दिखे। वह भी हालांकि कोई कमाल नहीं कर पाये और पैट कमिंस की गेंद पर उस्मान ख्वाजा ने अपनी बायीं ओर डाइव लगाकर उनका शानदार कैच लपका। उस समय भारत का स्कोर 11 ओवर में तीन विकेट पर 19 रन था।

पुजारा और अजिंक्य रहाणे (13) ने 59 गेंदों में 22 रन जोड़े। रहाणे को नाथन लियोन को खेलने में काफी दिक्कत हुई जो ड्रिंक्स ब्रेक के बाद गेंदबाजी के लिये आये। रहाणे ने लियोन को उसके दूसरे ओवर में लांग आन पर छक्का लगाया। रहाणे 21वें ओवर में हेजलवुड का शिकार हुए।

पुजारा और रोहित ने भारत को 25वें ओवर में 50 रन के पार पहुंचाया। एक समय पर भारत का स्कोर 38 ओवर में पांच विकेट पर 86 रन था। लंच के बाद पुजारा और रोहित शर्मा ने अच्छी शुरूआत की और पांचवें विकेट के लिये 45 रन जोड़े। पुजारा एक छोर पर दृढ़ होकर बल्लेबाजी कर रहे थे जबकि रोहित दूसरी ओर आक्रामक लग रहे थे।

रोहित ने पैट कमिंस को दो छक्के भी लगाये । इसके बाद नाथन लियोन को 38वें ओवर की दूसरी गेंद पर छक्का जड़ा। गेंद मार्कस हैरिस के हाथ में थी लेकिन वह सीमा को लांघ गए थे लिहाजा अंपायर ने दोनों हाथ ऊपर उठा दिये। इसके बाद भी रोहित ने सबक नहीं लेते हुए अगली ही गेंद पर फिर ऊंचा शाट खेला और डीप में लपके गए।