नई दिल्ली : केंद्र सरकार दिल्ली की कच्ची काॅलोनियों को पंसद नहीं करती, वह इन्हें तोड़ना चाहती है। यह कहना है मुख्यमंत्री व दिल्ली जल बोर्ड के अध्यक्ष अरविंद केजरीवाल का। गुरुवार को विकास पूरी में 33 कालोनियों के लिए सीवर लाइन का उद्घाटन करते हुए उन्होंने कहा कि विकास पुरी की 90 कालोनियों में सीवर का काम होगा।

24 कालोनियों का काम पूरा होने वाला है। आज 33 के लिए शुभारंभ किया जबकि 33 अन्य में भी जल्द काम शुरू करवा दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि भाजपा और कांग्रेस सरकार ने 70 साल में भी वह काम नहीं किया जो आप सरकार ने साढ़े तीन साल में करवा दिया। आज पूरे देश के मुकाबले दिल्ली में आधे दाम पर 24 घंटे बिजली दी जा रही है।

दिल्ली की 430 से भी ज्यादा कालोनियों में पानी की पाइप लाइन बिछा दी गई है। सरकार ने बुजुर्गों के लिए तीर्थ योजना भी शुरू कर दी। उन्होंने कहा कि आप सरकार दिल्लीवालों का लोक और परलोक दोनों सुधार दिया। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र के निवासियों को बेहतर सफाई एवं प्रदूषण मुक्त वातावरण देने के लिए इस योजना को तैयार किया गया है।

वर्तमान में इस क्षेत्र में साफ-सफाई की स्थिति बहुत खराब है और इन कालोनियों के सीवेज को सीधे ही नालों द्वारा यमुना नदी में डाला जा रहा था। इस योजना के पूर्ण होने पर यमुना नदी के प्रदूषण में भी कमी आएगी। इस योजना के अंतर्गत दिल्ली जल बोर्ड द्वारा निलोठी वेस्ट वाॅटर ट्रीटमेंट के अंतर्गत आने वाली विकासपुरी ग्रुप आॅफ कालोनियों के लिए 280 मि.मी. से 900 मि.मी. व्यास की सीवर लाइन डालने के कार्य के साथ आवश्यक मैनहोलों का निर्माण भी किया जायेगा।

इस परियोजना की कुल लागत लगभग रुपए 56.96 करोड़ है और इससे विकासपुरी विधानसभा क्षेत्र की 33 अनधिकृत कालोनियों के लगभग 1.98 लाख निवासियों को लाभ मिलेगा। वहीं भाजपा पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि साढ़े तीन साल में दिल्ली सरकार के काम में भाजपा और केंद्र सरकार ने टांग अड़ाने में कोई असर नहीं छोड़ी। अस्पताल, सीसीटीवी कैमरे, सड़कों सब की फाइल रोक दी। उन्होंने कहा कि मुझे 10 दिनों तक एलजी हाउस पर धरना करना पड़ा।

सीएम ने किया मिर्च पाउडर के नाम पर पब्लिक स्टंट : भाजपा