BREAKING NEWS

गुजरात की नई कैबिनेट में पटेल समुदाय का दबदबा, कुल 24 मंत्रियों ने ली शपथ◾UP में सरकार ने बनने पर हर घर को 300 यूनिट बिजली मुफ्त देगी AAP पार्टी, मनीष सिसोदिया ने की घोषणा◾हैदराबाद रेप-मर्डर : रेलवे ट्रैक पर मिली आरोपी की लाश, 6 साल की बच्ची के साथ किया था दुष्कर्म◾PM ने रक्षा मंत्रालय के नए दफ्तरों का किया उद्घाटन, सेंट्रल विस्टा पर बोले- सच सामने आते ही विरोधी चुप ◾एक्टर सोनू सूद के घर पहुंची इनकम टैक्स की टीम, दूसरे दिन भी घर का सर्वे जारी◾CDS ने PAK को बताया चीन का ‘प्रॉक्सी’, ड्रैगन को चेतावनी- रॉकेट फोर्स तैयार कर रहा है भारत ◾दिल्ली-NCR में मौसम ने ली फिर करवट, तेज हवाओं के साथ कुछ इलाकों में बारिश◾गुजरात : भूपेंद्र पटेल की नई कैबिनेट का गठन, राजभवन में मंत्री लेंगे शपथ◾भारत में कोविड के 30570 नए मामलों की पुष्टि और 431 लोगों की मौत, उपचाराधीन मरीजों की संख्या हुई कम◾मिसाइल परीक्षण को लेकर किम की बहन ने की दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति की आलोचना, दे डाली ये धमकी◾ तालिबान घरों की ले रहा है तलाशी, अफगान महिलाओं ने शासन के खौफ और सदमे के दर्द को किया बयां ◾तालिबान का बयान- अफगानिस्तान को दी जाने वाली सहायता राशि हमें दें, सरकार इसे लोगों तक वितरित करेंगी ◾एलन मस्क की स्पेसएक्स ने रचा इतिहास, पहली बार 4 आम लोगों को अंतरिक्ष में भेजा, मिशन को दिया यह नाम ◾दुनियाभर में कोविड महामारी का कहर जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 22.63 करोड़ के पार ◾दुनिया के 100 प्रभावशाली व्यक्तियों में मोदी, ममता, पूनावाला का नाम◾भाजपा ने 'फर्जी हिंदुओं' वाले बयान को लेकर राहुल पर निशाना साधा◾पंजाब को दहलाने की साजिश : ISI समर्थिक आतंकी मॉड्यूल के चार और सदस्य गिरफ्तार, CM अमरिंदर ने जारी किया हाई अलर्ट◾आगामी यूपी विधानसभा चुनाव में AIMIM की क्या भूमिका होगी? असदुद्दीन ओवैसी ने दी विरोधियों को जानकारी◾मायावती पर योगी के मंत्री का पलटवार, कहा- बेरोजगारी में सड़कों के गड्ढे गिन रहीं ◾रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह बोले- पिछली तारीख से कराधान खत्म करने से सरकार और उद्योग के बीच भरोसा बढ़ा◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

सागर हत्याकांड : सुशील ने 30-40 मिनट तक की थी सागर की पिटाई, चार्जशीट में कई अहम खुलासे

सागर हत्याकांड मामले में दिल्ली पुलिस ने रोहिणी कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की है। चार्जशीट में पुलिस ने पहलवान सुशील कुमार को मुख्य आरोपी बनाते हुए कई हैरान करने वाले खुलासे किए। चार्जशीट के अनुसार, सुशील कुमार और उसके साथियों ने छत्रसाल स्टेडियम का दरवाजा अंदर से बंद करने के बाद सागर और अन्य को डंडों, हॉकी और बेसबॉल की बेट से 30 से 40 मिनट तक पीटा था।

पुलिस ने 1,000 पन्नों की अपनी अंतिम रिपोर्ट में कहा, “स्टेडियम में, सभी पीड़ितों को घेर लिया गया था और सभी आरोपियों ने उन्हें बुरी तरह से पीटा। सभी पीड़ितों को ‘लाठी’, ‘डंडों’, हॉकी, बेसबॉल के बल्लों आदि से करीब 30 से 40 मिनट तक पीटा गया।” मामले की जांच कर रही अपराध शाखा ने यह भी खुलासा किया कि कुछ आरोपी वहां बंदूक लेकर आए थे और उन्होंने पीड़ितों को गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दी थी। 

इस बीच, एक पीड़ित मौके से निकलने में कामयाब हो गया और उसने पुलिस को फोन किया जिसके बाद स्थानीय पुलिस एवं पीसीआर वैन के कर्मी स्टेडियम पहुंचे। जांच में सामने आया, “जैसे ही आरोपियों ने पुलिस सायरन सुना, वे मृतक सागर और घायल सोनू को स्टेडियम के भूमिगत स्थान पर ले गए। आरोपियों ने दोनों पीड़ितों को घायल अवस्था में वहां छोड़ा और मौके से फरार हो गए।” 

पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक, धनखड़ की मौत का कारण “भोथरी वस्तु के हमले से मस्तिष्क को पहुंची चोट” थी। सुशील कुमार और उसके साथियों के पास से पांच वाहनों को जब्त किया गया। एक वाहन की पिछली सीट से एक डबल बैरल बंदूक और पांच जिंदा कारतूस भी बरामद किए गए। सोमवार को, अपराध शाखा ने हत्या के मामले में कुमार और 12 अन्य के खिलाफ चार्जशीट दायर किया जिसमें इसने ओलंपिक पदक विजेता पहलवान को मुख्य आरोपी नामजद किया है। 

चार्जशीट में, पुलिस ने मृतक का मौत के वक्त दिया जुबानी बयान, आरोपी की मौजूदगी वाली जगह, सीसीटीवी फुटेज और मौके से बरामद वाहनों समेत वैज्ञानिक साक्ष्यों का सहारा लिया है। भारतीय दंड संहिता की 22 धाराओं के तहत आरोपियों पर मुकदमा चलाने का अनुरोध करते हुए इसमें कहा गया, “जांच के दौरान अब तक एकत्र की गई सामग्रियों जिनका ऊपर उल्लेख किया गया है, उससे सभी आरोपियों के खिलाफ पर्याप्त साक्ष्य हैं।” 

चार्जशीट में अभियोजन पक्ष के 155 गवाहों के नाम का उल्लेख है, जिनमें वे चार लोग भी शामिल हैं जो इस विवाद के दौरान घायल हो गए थे। दिल्ली पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ हत्या, हत्या के प्रयास, गैर इरादतन हत्या, आपराधिक साजिश, अपहरण, डकैती, दंगा जैसे अपराधों के लिए प्राथमिकी दर्ज की थी।