BREAKING NEWS

UP चुनाव को लेकर बढ़ाई गई टीकाकरण की रफ्तार, मतदान ड्यूटी करने वालों को दी जा रही ‘एहतियाती’ खुराक ◾भाजपा से बर्खास्त हरक सिंह रावत ने थामा कांग्रेस का दामन, पुत्रवधू भी हुई शामिल◾त्रिपुरा ना सिर्फ नयी बुलंदियों की तरफ बढ़ रहा है बल्कि "ट्रेड कॉरिडोर’’ का केंद्र भी बन रहा है : PM मोदी ◾ASP ने जारी किया घोषणापत्र, कृषि ऋण माफी और ‘मॉब लिंचिंग’ निरोधक आदि कानून लाने का किया वादा ◾UP चुनाव: योगी को मिलेगा ठाकुर समुदाय का समर्थन? जानें SP, BSP और कांग्रेस की क्या है प्रतिक्रिया ◾LG ने वीकेंड कर्फ्यू खत्म करने का प्रस्ताव ठुकराया, निजी दफ्तरों में 50% उपस्थिति पर सहमति जताई◾यूपी : चुनाव के बाद गठबंधन को लेकर बोली प्रियंका गांधी-पार्टी इस बारे में करेगी विचार ◾15 साल से कम उम्र के बच्चों के टीकाकरण में लगेगा समय, भूषण बोले- वैज्ञानिक डेटा आने के बाद होगा फैसला ◾कांग्रेस ने जारी किया ‘युवा घोषणापत्र’, दुरुस्त होगी भर्ती की प्रक्रिया, राहुल ने किया ‘नया UP’ बनाने का वादा ◾दिल्ली में टला कोरोना का खतरा? जैन बोले- नियंत्रण में स्थिति, 3-4 दिन में मिल सकती है प्रतिबंधों में और राहत ◾गोवा चुनाव : BJP के साथ रहेंगे या थामेंगे AAP का दामन? उत्पल आज करेंगे प्रेस कॉन्फ्रेंस◾इंडिया गेट पर लगेगी सुभाष चंद्र बोस की भव्य प्रतिमा, PM मोदी ने ट्वीट कर किया ऐलान◾गुजरात : PM मोदी ने सोमनाथ मंदिर के पास बने सर्किट हाउस का किया उद्घाटन, कमरे से दिखाई देगा 'सी व्यू'◾UP चुनाव में BJP ने सियासी रण में उतारे दिग्गज सितारें, शाह और नड्डा घर-घर जाकर करेंगे पार्टी का प्रचार ◾अपर्णा का अखिलेश को जवाब, BJP में शामिल होने के बाद मुलायम सिंह से लिया आशीर्वाद◾CM फेस को लेकर हुआ कांग्रेस का पोल दे सकता है विवाद को जन्म, सिद्धू को पछाड़ टॉप पर चन्नी, जानें रिजल्ट ◾चुनाव से पूर्व राजनीति ले रही दिलचस्प मोड़, योगी के खिलाफ उनके प्रतिद्वंदी की पत्नी को मैदान में उतारेगी SP? ◾CM योगी का अखिलेश पर निशाना, बोले- पलायन नहीं प्रगति और दंगा मुक्त प्रदेश चाहती है यूपी की जनता ◾दिल्ली: वीकेंड कर्फ्यू और ऑड-ईवन सिस्टम से मिलेगी राहत, केजरीवाल सरकार ने प्रस्ताव को दी मंजूरी ◾PM मोदी ने पूर्वोत्तर के तीन राज्यों को स्थापना दिवस पर बधाई दी, बोले- देश के विकास में दे रहे अहम योगदान◾

क्या केजरीवाल कर रहे हैं वोटों के लिए राम नाम का इस्तेमाल ?

उत्तर प्रदेश की चुनावी राजनीति में आम आदमी पार्टी भी अपना हाथ आजमा रही है। उसे उम्मीद है कि दिल्ली की तरह यूपी में भी उसकी एंट्री जोरदार होगी। इसी कड़ी में अरविंद केजरीवाल अयोध्या पहुंचे। आपको बता दें कि पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव से पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने वोट बटोरने के लिए भगवान राम का नाम लेना शुरू कर दिया है।

केजरीवाल का अयोध्या दौरा 

इस हफ्ते की शुरूआत में, आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक ने सरयू नदी में आरती, हनुमान गढ़ी में पूजा-अर्चना की और 25 और 26 अक्टूबर को पवित्र शहर की अपनी दो दिवसीय यात्रा के दौरान अयोध्या में राम लला के दर्शन किए। इतना ही नहीं, उन्होंने दिल्ली के त्यागराज स्टेडियम में दिवाली पूजा में भाग लेने की घोषणा की है, जहां शाम के कार्यक्रम के लिए भगवान राम की 30 फुट ऊंची प्रतिकृति स्थापित करने की तैयारी चल रही है। अयोध्या से लौटने के बाद और दिवाली से करीब एक हफ्ते पहले केजरीवाल ने लोगों से अपने टेलीविजन सेट के माध्यम से 'दिवाली पूजा' में शामिल होने के लिए कहा है। उन्होंने पृष्ठभूमि में बज रहे 'ओम जय जगदीश' की धुन के साथ एक संबोधन में कहा, मैं 4 नवंबर को शाम 7 बजे अपने कैबिनेट मंत्रियों के साथ दिवाली पूजा करूंगा। मैं चाहूंगा कि राजधानी के दो करोड़ लोग मेरे साथ जुड़ें।

2020 में, उन्होंने अक्षरधाम मंदिर में दिवाली पूजा की थी।

27 अक्टूबर को, मुख्यमंत्री ने अयोध्या को मुख्यमंत्री तीर्थ कल्याण योजना में भी जोड़ा - एक ऐसी योजना जिसके तहत दिल्लीवासियों को एसी ट्रेनों से मुफ्त यात्रा और एसी होटलों में ठहरने की सुविधा दी जाएगी। मुख्यमंत्री ने घोषणा करते हुए कहा, अयोध्या ने जगन्नाथ पुरी, उज्जैन, शिरडी, अमृतसर, जम्मू, द्वारका, मथुरा, तिरुपति, रामेश्वरम, हरिद्वार, बोधगया जैसे अन्य तीर्थ स्थलों के अलावा मुख्यमंत्री तीर्थ कल्याण योजना की सूची में जगह बनाई है। दिल्ली सरकार उनकी सहायता करेगी। जो लोग अयोध्या में रामलला के नि:शुल्क दर्शन करना चाहते हैं।

उन्होंने कहा, मैं भाग्यशाली था कि मुझे राम लला के दर्शन करने का मौका मिला और मैं चाहता हूं कि सभी को यह मौका मिले। मेरे पास जो भी क्षमता है, मैं उसका उपयोग अधिक से अधिक लोगों को यहां 'दर्शन' कराऊंगा।

दिल्ली के मुख्यमंत्रियों का राम को लेकर जिक्र यहीं खत्म नहीं होता।

आप के वरिष्ठ नेता ने इससे पहले मार्च में एक विधानसभा सत्र के दौरान कहा था कि वह शहर में 'राम राज्य' की स्थापना करना चाहते हैं। उन्होंने दिल्ली में अपने नागरिकों के लिए सभी बुनियादी सुविधाओं का वादा किया था। केजरीवाल की अयोध्या यात्रा पर प्रतिक्रिया देते हुए, यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, पहले जो लोग भगवान राम के प्रति उदासीन थे, वे अब भगवान को नमन कर रहे हैं। यह अच्छा है। कम से कम उन्होंने श्री राम के महत्व और अस्तित्व को महसूस किया है।

 भगवान राम केवल  भाजपा के नही हैं:आप

योगी आदित्यनाथ के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए, आप के एक नेता ने कहा, राम अकेले किसी एक व्यक्ति या पार्टी के नहीं हैं। वह सभी के हैं। अगर योगी जी सोचते हैं कि भगवान राम केवल उनके या भाजपा के हैं, तो मुझे यह कहते हुए खेद है कि लेकिन उनका दिमाग बहुत संकीर्ण है। बता दें कि उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, गोवा और गुजरात राज्यों में 2022 में चुनाव होंगे।

DRDO और वायुसेना को बड़ी सफलता, अचूक निशाने से तबाह होंगे दुश्मन के ठिकाने