BREAKING NEWS

केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल कोरोना पॉजिटिव पाए गए, एम्स के ट्रॉमा सेंटर में भर्ती ◾गृह मंत्री अमित शाह ने की प्रधानमंत्री के ‘गंदगी भारत छोड़ो’ अभियान से जुड़ने की अपील ◾मोदी सरकार पर राहुल गांधी का हमला, बोले- जब-जब देश भावुक हुआ है, फाइलें गायब हुईं हैं◾पीएम मोदी के नए नारे पर राहुल का तंज: ‘असत्य की गंदगी’ भी साफ करनी है ◾राजस्थान का सियासी रण फिर गरमाया, दिल्ली में वसुंधरा ने डाला डेरा, नड्डा और राजनाथ से की मुलाकात◾पीएम मोदी ने दिया नया नारा - ‘देश को कमजोर बनाने वाली बुराइयां भारत छोड़ें, गंदगी भारत छोड़ो’◾4,000 टन ईंधन लदे जहाज में दरारे पड़ने से रिसाव, मॉरीशस की 13 लाख की आबादी पर मंडराया खतरा ◾दिल्ली में कोरोना का कहर जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 1.44 लाख के पार, बीते 24 घंटे में 1,404 नए केस◾पीएम मोदी ने दिल्ली में राष्ट्रीय स्वच्छता केंद्र का उद्घाटन किया ◾भारतीय वायुसेना के पूर्व विंग कमांडर थे दुर्घटनाग्रस्त एयर एशिया एक्सप्रेस के विमान के पायलट कैप्टेन साठे◾कोझिकोड विमान हादसा : जान गंवाने वाला एक यात्री निकला कोरोना वायरस पॉजिटिव ◾केरल विमान हादसा : राज्य सरकार ने मृतकों के परिजन के लिए दस लाख रुपये मुआवजे का किया ऐलान◾DGCA ने जुलाई 2019 में सुरक्षा संबंधी त्रुटियों को लेकर कोझिकोड हवाईअड्डे को दिया था नोटिस◾भारत और चीन के बीच मेजर जनरल लेवल की बैठक जारी, देपसांग से सैनिकों को हटाने के बारे में होगी चर्चा ◾World Corona : विश्व में महामारी का कहर तेज, संक्रमितों का आंकड़ा 1 करोड़ 94 लाख के करीब◾कोरोना वायरस : पिछले 24 घंटे में 61 हजार 537 नए मामलों की पुष्टि, 933 लोगों ने गंवाई जान ◾केरल विमान हादसा : एअर इंडिया एक्सप्रेस का एलान- कोझिकोड तक तीन राहत उड़ानों का किया गया प्रबंध ◾LAC के पास सेना और वायुसेना को उच्च स्तर की सतर्कता बरतने के दिए गए निर्देश◾चीनी अतिक्रमण का उल्लेख करने वाली रिपोर्ट से धूमिल हुई रक्षा मंत्री की छवि : कांग्रेस ◾केरल विमान हादसा : कोझिकोड एयरपोर्ट पर रनवे पर विमान फिसलने से अब तक 18 लोगों की मौत◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

राजघाट से दौड़ी 100 नई अल्ट्रा मॉर्डन बसें, सीएम ने दिखाई हरी झंडी

नई दिल्ली : दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को राजघाट कलस्टर बस डिपो से 100 नई अल्ट्रा माॅर्डन बसों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। यह नई बसें दिल्ली के 12 रूटों पर संचालित की जाएंगी। इन बसों में हाइड्रोलिक लिफ्ट, पैनिक बटन, सीसीटीवी व जीपीएस समेत सभी आधुनिकतम सुविधाएं उपलब्ध हैं। केजरीवाल ने कहा कि पिछले चार माह में बेड़े में अब 529 नई बसें शामिल हो गई हैं। 

इससे दिल्ली की सार्वजनिक यातायात व्यवस्था को सुदृढ करने में बहुत मदद मिल रही है। मुख्यमंत्री केजरीवाल ने इस मौके पर कहा कि आज 100 और बसों को डीटीसी के बेड़े में शामिल कर लिया गया है। दिल्ली के निवासियों को सरकार की तरफ से हर सप्ताह खुशखबरी मिल रही है। लोगों की सहूलियत के मद्देनजर बहुत सारी बसें खरीदी जा रही हैं। अगले तीन-चार महीने में और बसें आने वाली हैं। 

कई सालों से दिल्ली में बसों की जो कमी महसूस की जा रही थी। वह कमी अब पूरी हो जाएगी। अब लोगों को बस की किल्लत नहीं झेलनी पड़ेगी। अब लोगों को हर जगह कम समय में बसें मिला करेंगी। हमारा मकसद है कि दिल्ली की यातायात व्यवस्था को बहुत ही आधुनिक बनाया जाए। लोगों के लिए बस का सफर आरामदेह बनाया जाए। उसी दिशा में यह सारी बसें खरीदी जा रही हैं। दिल्ली के लोगों को इसके लिए आज मैं बधाई देता हूं।

नियमित रूप से नई बसें मिलती रहेंगी : गहलोत

परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने इस मौके पर कहा कि आज हमें 100 नई अल्ट्रा मॉडर्न बसें मिली हैं, जो सीसीटीवी, जीपीएस, पैनिक बटन और हाइड्रोलिक लिफ्ट के साथ अन्य सुविधाओं से सुसज्जित हैं। नई बसों में तीन सीसीटीवी हैं। हर वैकल्पिक सीट पर एक पैनिक बटन है और अगर एक पैनिक बटन दबाया जाता है तो एक बड़ा हूटर कमांड सेंटर को सक्रिय करता है। अब दिल्ली की हर बस में मार्शल हैं। दिल्ली को नियमित रूप से नई बसें मिलती रहेंगी।

300 इलेक्ट्रिक बसों के लिए टेंडर प्रक्रिया प्रारंभ

दिल्ली परिवहन निगम (डीटीसी) 300  इलेक्ट्रिक बसों की खरीद के लिए टेंडर जारी कर दिया गया है। ये 1,000 क्लस्टर ई-बसों के अतिरिक्त होंगी, जिन्हें पहले से ही मौजूदा बेड़े में जोड़ा जाना तय है। टेंडर प्रक्रिया जारी है। 1,000 लो-फ्लोर, वातानुकूलित, सीएनजी-रन क्लस्टर बसों के लिए वित्तीय बोली भी खोली गई है। 

2019-20 के लिए दिल्ली सरकार के बजट के अनुसार, इस वर्ष लोकसभा चुनाव के लिए आदर्श आचार संहिता सहित विभिन्न कारणों से ई-बस खरीद परियोजना में एक वर्ष से अधिक की देरी हुई। इससे पहले, दिल्ली सरकार ने इस साल 2 मार्च को 385 पूर्ण-इलेक्ट्रिक बसों के पहले बेड़े के लिए निविदाओं को मंजूरी दी थी। निविदाएं 10 मार्च को मंगाई गई थीं, लेकिन मतदान के कारण प्रक्रिया बाधित हो गई थी। अब प्रक्रिया चल रही है।