नई दिल्ली : रेलवे स्टेशन पर तो प्लेटफार्म टिकट की सुविधा लेकर अपने चहेतों को ट्रेन की सीट तक पहुंचाया जा सकता है, लेकिन एयरपोर्ट पर टर्मिनल के गेट के बाहर से ही अलविदा कहना पड़ता है। हालांकि कुछ लोग सुरक्षा एजेंसियों को धता बताते हुए एयरपोर्ट में भी बिना टिकट घुसने की कोशिश करते हैं, नतीजतन उनको फर्जी टिकट के साथ एयरपोर्ट से बाहर निकलने के दौरान दबोच लिया जाता है।

शनिवार को ऐसे ही एक युवक अपनी प्रेमिका को मुंबई जाने वाली फ्लाइट में छोड़ने के लिए गया था, लेकिन प्रेमिका को टर्मिनल के बाहर छोड़ने के लिए फर्जी टिकट पर चेक-इन एरिया तक पहुंच गया। हालांकि उसकी सूझ-बूझ उसे बचा नहीं सकी और वहां मौजूद सीआईएसएफ के जवानों ने संदेह होने पर आरोपी को दबोच लिया।

आरोपी ने पूछताछ में बताया कि वह अपनी प्रेमिका को छोड़ने के लिए टर्मिनल में दाखिल हुआ था और उसके पास मौजूद टिकट फर्जी निकला। दिल्ली पुलिस अधिकारियों ने बताया कि यह कोई ऐसा पहला मामला नहीं है, बल्कि सिर्फ इसी वर्ष ऐसे सौ से अधिक लोगों को फर्जी टिकट पर टर्मिनल के भीतर प्रवेश करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।

ऐसे लोगों के खिलाफ अतिक्रमण (ट्रेसपासिंग) सहित संबंधित धाराओं में एफआईआर दर्ज करके उन्हें गिरफ्तार किया जाता है। पुलिस सूत्रों ने बताया कि एयरपोर्ट पुलिस ने इस वर्ष 15 दिसंबर 114 आरोपियों को अवैध टिकट पर एयरपोर्ट में दाखिल होने के आरोप में पकड़ा है, जिनके खिलाफ 103 एफआईआर दर्ज करके उनको गिरफ्तार किया गया है।

वहीं बीते वर्ष अवैध टिकट पर प्रवेश करने के खिलाफ 47 एफआईआर दर्ज करके 48 लोगों को गिरफ्तार किया गया था। पुलिस उपायुक्त, आईजीआई संजय भाटिया ने बताया कि ऐसे ट्रेसपासिंग के मामलों में पुलिस की तरफ से तुरंत एफआईआर दर्ज की जाती है।

– रवि भूषण द्विवेदी