BREAKING NEWS

राउत और उद्धव ने बाला साहेब को दी श्रद्धांजलि, फडणवीस ने ट्वीट कर लिखा-स्वाभिमान की मिली सीख◾बैंकॉक में अमेरिकी रक्षा मंत्री मार्क एस्पर और राजनाथ सिंह के बीच हुई द्विपक्षीय बैठक◾दिल्ली में हवा की गुणवत्ता में हुआ सुधार, नोएडा और गुरुग्राम में स्थिति फिलहाल गंभीर◾दिल्ली : ITO में लगे BJP सांसद गौतम गंभीर के लापता होने के पोस्टर◾वसीम रिजवी बोले- बगदादी और ओवैसी में कोई अंतर नहीं◾अयोध्या पर AIMPLB की बैठक आज, इकबाल अंसारी करेंगे बहिष्कार◾झारखंड विधानसभा चुनाव: कांग्रेस ने रांची में भाजपा से मुकाबला करने के लिए झामुमो को किया आगे◾महा गतिरोध : सोनिया-पवार की मुलाकात अब सोमवार को होगी ◾शीतकालीन सत्र के बेहतर परिणामों वाला होने की उम्मीद : मोदी◾मुसलमानों को बाबरी मस्जिद के बदले कोई जमीन नहीं लेनी चाहिये - मुस्लिम पक्षकार◾GST रिटर्न दाखिल करने की प्रक्रिया को सरल बनाने को लेकर वित्त मंत्री ने की बैठकें ◾भारत ने अग्नि-2 बैलिस्टिक मिसाइल का किया सफल परीक्षण◾विपक्ष में बैठेंगे शिवसेना के सांसद ◾आसियान रक्षा मंत्रियों की बैठक में हिस्सा लेने बैंकाक पहुंचे रक्षा मंत्री राजनाथ◾किसानों की आवाज को कुचलना चाहती है भाजपा सरकार : अखिलेश◾उत्तरी कश्मीर में पांच संदिग्ध आतंकवादी गिरफ्तार ◾‘शिवसेना राजग की बैठक में भाग नहीं लेगी’ ◾TOP 20 NEWS 16 November : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾रामलीला मैदान में मोदी सरकार की ‘जनविरोधी नीतियों’ के खिलाफ विपक्ष करेगी बड़ी रैली ◾झारखंड विधानसभा चुनाव : भाजपा ने तीन उम्मीदवारों की चौथी सूची की जारी◾

दिल्ली – एन. सी. आर.

‘दिल्ली के 2 करोड़ लोग मेरी ताकत’

नई दिल्ली : दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को वायु प्रदूषण से निपटने के समाधान पर डेनमार्क के कोपनहेगन में आयोजित सी 40 जलवायु परिवर्तन शिखर सम्मेलन को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने पेरिस के मेयर एनी हिडाल्गो, लॉस एंजेल्स के मेयर एरिक गार्सेटी, कोपेनहेगन के लॉर्ड मेयर जेन्सन, बार्सिलोना के मेयर एडा कोलाउ और पोर्टलैंड टेड व्हीलर के मेयर के साथ क्लीन एयर डिक्लरेशन की घोषणा की। 

बता दें कि प्रेस कांफ्रेंस में शामिल होने के लिए अरविंद केजरीवाल को कोपनहेगन जाना था। लेकिन, उन्हें विदेश मंत्रालय से अनुमति नहीं मिली। इस कारण उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित किया। शिखर सम्मेलन के सत्र स्वच्छ हवा के लिए शहर के समाधान सत्र के दौरान मुख्यमंत्री ने पिछले चार साल में वायु प्रदूषण कम करने के लिए उठाए गए महत्वपूर्ण कदम की जानकारी दुनिया को दी। 

साथ ही इसमें जनता की तरफ से मिले सहयोग को विस्तार से बताया। उन्होंने दिल्ली में भविष्य में वायु प्रदूषण कम करने के लिए उठाए जाने वाले निर्णय की जानकारी भी दी। मुख्यमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कहा कि दिल्ली के 2 करोड़ लोग मेरी ताकत हैं।

चार साल में 25 प्रतिशत प्रदूषण कम हो गया

केजरीवाल ने कहा कि मैं कोपनहेगन आना चाहता था लेकिन किसी कारण से नहीं आ सका। मुझे बेहद खुशी है कि सी 40 की तरफ से क्लीन एयर सिटी के तौर पर जिन 35 शहरों को चुना गया, उसमें दिल्ली भी शामिल है। मुझे बताते हुए खुशी हो रही है कि पिछले चार साल में दिल्ली में प्रदूषण कम करने के लिए कई कदम उठाया गया, जिसका नतीजा है कि आज दिल्ली में 25 प्रतिशत प्रदूषण कम हो गया। केजरीवाल ने कहा कि इससे पहले दिल्ली प्रदूषण से लड़ रही थी। इसके लिए हमने ऑड-इवन लागू किया, जिससे सड़कों से आधा वाहन कम हो गए।

दिल्ली में बढ़ाया हरियाली का दायरा 

दिल्ली में बड़े पैमाने पर हरियाली का दायरा बढ़ाया गया। वायु क्वालिटी मापने के लिए कई जगह मॉनिटर लगाए। हमारे हर निर्णय में दिल्ली की 2 करोड़ जनता का भरपूर साथ मिला। कई सख्त निर्णय भी लिए गए। मेरा मानना है कि कोई भी क्लाइमेट चेंज जनता के सहयोग बगैर संभव नहीं है। मैं क्लीन सिटी डिक्लरेशन आज इस कारण साइन कर पा रहा हूं क्योंकि दो करोड़ जनता का मुझे साथ है। मैं  दावे से कह रहा हूं कि कोई भी क्लाइमेट चेंज जनता के पूर्ण सहयोग के संभव नहीं है।

बनेगा स्पेशल टास्क फोर्स और साफ होगी आबोहवा

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली के प्रदूषण को कम करने के लिए आगे भी काम करेंगे। इसके लिए दिल्ली में टास्क फोर्स का गठन होगा। जिसका हेड मुख्यमंत्री के तौर पर मैं रहूंगा। इसमें मंत्री व अधिकारी व विशेषज्ञ होंगे। यह टास्क फोर्स सी 40 के डिक्लरेशन को लागू करेगी। जिससे दिल्ली के वायु प्रदूषण को कम करने में मदद मिलेगी। इसके अलावा हम परिवहन क्षेत्र में बड़ा बदलाव करने जा रहे हैं। इसे पर्यावरण के हिसाब से बनाया जाएगा। 

दिल्ली में 1 हजार इलेक्ट्रिक बसें आ रही हैं, जिससे प्रदूषण में कमी लाने में मदद मिलेगी। साथ ही इसके बाद अन्य वाहनों को भी इलेक्ट्रिक में बदला जाएगा। खुले स्थानों पर डस्ट दिल्ली की बड़ी समस्या है। इसे खत्म करने के लिए हमलोग हरियाली का दायरा बढ़ाने जा रहे हैं। मैकेनिकल स्विपिंग को भी लागू किया जाएगा।