BREAKING NEWS

Kangana Ranaut: कंगना रनौत ने ट्वीट कर बॉलीवुड वालों को दी नसीहत, कहा- मत बनाओ हिंदू नफरत का नैरेटिव ◾लद्दाख : -20 डिग्री में लद्दाख को बचाने के लिए आंदोलन कर रहे 'सोनम वांगचुक' को सरकार ने किया नजरबंद ! ◾मायावती ने कहा, 'अडाणी समूह पर लगे आरोपों पर वक्तव्य जारी करे सरकार'◾MP: भारतीय वायुसेना के दो लड़ाकू विमान मुरैना में दुर्घटनाग्रस्त, एक पायलट शहीद ◾MP: भारतीय वायुसेना के दो लड़ाकू विमान मुरैना में दुर्घटनाग्रस्त, एक पायलट शहीद ◾Weather Update: पंजाब और हरियाणा में कड़ाके की ठंड जारी, जानें अपने शहर का हाल ◾यरूशलम में हुआ आतंकी हमला: अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडन ने इजराइली प्रधानमंत्री से की बात ◾स्वामी प्रसाद मौर्य के बिगड़े बोल: संतों-धर्माचार्यों को बताया आतंकवादी और जल्लाद◾आर्थिक संकट से जूझ रहे पाकिस्तान दिवालिया होने के कगार पर◾Delhi University: डीयू ने BBC वृत्तचित्र की स्क्रीनिंग को लेकर हुए हंगामे की जांच के लिए बनाई समिति ◾झारखंड के अस्पताल में लगी भयानक आग डॉक्टर समेत 6 लोग जिंदा जल कर हुए राख◾जयराम रमेश बोले- कांग्रेस को 2024 के लोकसभा चुनाव के लिए किसी भी विपक्षी गठबंधन का आधार बनना होगा◾Tripura Assembly Election: चुनाव के मद्देनजर कांग्रेस ने जारी की स्टार प्रचारकों की सूची◾ AAP सांसद राघव चड्ढा इंडिया-यूके आउटस्टैंडिंग अचीवर्स अवॉर्ड से हुए सम्मानित◾यूपी: हत्या के प्रयास के मामले में सपा विधायक नाहिद हसन बरी◾Bharat Jodo Yatra: राहुल गांधी ने पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए CRPF के जवानों को दी श्रद्धांजलि◾BBC की डॉक्यूमेंट्री पर बवाल जारी, अब मुंबई के TISS में भी विवाद◾Bihar News: पूर्व CM जीतन राम मांझी ने तेजस्वी यादव से की शराबबंदी कानून वापस लेने की मांग◾चीन पर फिर भड़का अमेरिका, कहा- LAC पर कोई हरकत करे तो मुंहतोड़ जवाब दो◾CM बसवराज बोम्मई ने कहा- अमित शाह कर्नाटक यात्रा विधानसभा चुनाव में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे ◾

2019 Jamia violence: कोर्ट ने दिल्ली पुलिस से मांगा स्पष्टीकरण

दिल्ली के जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय में दिसंबर 2019 में हुई हिंसा की घटनाओं से संबंधित एक मामले की सुनवाई कर रही एक अदालत ने मामले की फाइल को विशेष लोक अभियोजक (एसपीपी) के संज्ञान में नहीं लाने पर दिल्ली पुलिस से स्पष्टीकरण मांगा है।

अदालत जामिया नगर पुलिस थाने द्वारा भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) के विभिन्न प्रावधानों के तहत दर्ज मामले में आरोप तय करने पर दलीलें सुन रही थी, जिसमें दंगा, गैर इरादतन हत्या करने का प्रयास और आपराधिक साजिश शामिल है।इस मामले के आरोपियों में शाजील इमाम, शरफूरा जरगर, मोहम्मद इलियास, बिलाल नदीम, शहजर रजा खान, महमूद अनवर, मोहम्मद कासिम, उमैर अहमद, चंदा यादव और अबुजार शामिल हैं।

सहायक सत्र न्यायाधीश अरुल वर्मा ने शनिवार को पारित एक आदेश में कहा, ‘‘ इस आदेश की एक प्रति संबंधित पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) अपराध शाखा को यह स्पष्टीकरण देने के लिए भेजी जाए कि एसपीपी की नियुक्ति के बावजूद फाइल उनके संज्ञान में क्यों नहीं लाई गई। सुनवाई की अगली तारीख को रिपोर्ट दाखिल की जाए। ’’

अदालत ने कहा कि विशेष लोक अभियोजक मधुकर पांडे पहली बार इस मामले में पेश हो रहे हैं और चूंकि मामले की फाइल हाल ही में उन्हें सौंपी गई है, इसलिए उन्होंने अपनी दलीलें तैयार करने के लिए स्थगन की मांग की।अदालत ने डीसीपी राजेंद्र प्रसाद मीणा को 13 दिसंबर को अगली सुनवाई में एसपीपी की सहायता के लिए उपस्थित रहने के लिए भी नोटिस जारी किया।