BREAKING NEWS

राहुल गांधी ने प्याज पर सीतारमण के बयान को लेकर तंज कसा ◾TOP 20 NEWS 05 December : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾PNB घोटाला : नीरव मोदी भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित ◾DTC और क्लस्टर बसों में लगेंगे CCTV कैमरे, पैनिक बटन, GPS : केजरीवाल ◾मायावती ने केंद्र द्वारा लाए गए नागरिकता संशोधन विधेयक को बताया विभाजनकारी और असंवैधानिक◾चिदंबरम ने पहले ही दिन जमानत की शर्तों का उल्लंघन किया: प्रकाश जावड़ेकर◾अर्थव्यवस्था पर असामान्य रूप से मौन हैं PM मोदी, सरकार को नहीं कोई खबर : चिदंबरम ◾रेपो दर में नहीं हुआ कोई बदलाव, RBI ने GDP ग्रोथ अनुमान घटाकर किया 5 फीसदी◾वायनाड में बोले राहुल- PM मोदी और अमित शाह ‘काल्पनिक’ दुनिया में जी रहे हैं इसलिए देश संकट में है◾जेल से बाहर आते ही एक्शन में दिखे चिदंबरम, संसद परिसर में मोदी सरकार के खिलाफ किया प्रदर्शन◾प्रियंका ने योगी सरकार पर साधा निशाना, कहा- प्रदेश में कानून व्यवस्था बेहतर होने के फर्जी प्रचार से बाहर निकलना चाहिए◾महाराष्ट्र में शिवसेना को बड़ा झटका, भाजपा में शामिल हुए 400 पार्टी कार्यकर्ता◾उत्तर प्रदेश : उन्नाव में गैंगरेप पीड़िता को जिंदा जलाने की कोशिश, सभी आरोपी फरार ◾अमेरिका : पर्ल हार्बर शिपयार्ड में हुई गोलीबारी, बाल-बाल बचे भारतीय वायुसेना प्रमुख भदौरिया◾मध्य प्रदेश : रीवा में बस-ट्रक के बीच भीषण टक्कर, 9 की मौत, 10 लोग घायल◾पूर्व PM मनमोहन सिंह बोले- अगर नरसिम्हा राव ने मान ली होती गुजराल कि बात तो टल सकता था 1984 का दंगा◾कर्नाटक में 15 विधानसभा सीटों पर वोटिंग जारी, बीजेपी सरकार की किस्मत का होगा फैसला◾सूडान फैक्ट्री हादसे में भारतीयों की मौत पर PM मोदी दुख प्रकट किया ◾जेल से बाहर आने के बाद चिदंबरम ने सोनिया गांधी से की मुलाकात ◾कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने निर्मला को ‘निर्बला कहने पर जताया खेद ◾

दिल्ली – एन. सी. आर.

‘जीडीपी का 6 प्रतिशत बजट शिक्षा पर खर्च करना अनिवार्य हो’

 education gdp

नई दिल्ली : अब समय आ गया है कि ऐसा कानून बनाया जाये ताकि देश में जीडीपी का कम से कम 6 प्रतिशत बजट शिक्षा पर रखना अनिवार्य हो। दिल्ली सरकार के उपमुख्यमंत्री व शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया  ने शनिवार को नई शिक्षा नीति पर केन्द्रीय सलाहकार शिक्षा बोर्ड की स्पेशल मीटिंग के बाद अपने आवास पर एक प्रेसवार्ता कर उक्त बातें कहीं। उन्होंने कहा कि आज देश की शिक्षा की सबसे बड़ी समस्या है हाइली रेगुलेटिड-पूअरली फंडिड। नई शिक्षा नीति में इन दोनों ही समस्याओं का कोई समाधान नहीं दिया है। 

उन्होंने आगे कहा कि नई शिक्षा नीति में इस बात पर कोई प्रस्ताव नहीं है कि देश के बच्चों की शिक्षा सरकार का काम है। इसके उलट कई ऐसे प्रस्ताव हैं जिनमें प्राइवेट शिक्षा व्यवस्था को बढ़ावा मिलेगा। देश में सरकारी स्कूल बंद होते जा रहे हैं और जो चल रहे है उनकी गुणवत्ता पर लोगों का भरोसा कम होता जा रहा है। नई शिक्षा नीति में प्राइवेट शिक्षा बोर्ड बनाने की बात कही गई है जो एक बेहद घातक कदम होगा। 

शिक्षा देना सरकार का काम है और शिक्षा बोर्ड भी सरकारी ही होने चाहिए। प्राइवेट स्कूलों को अपना बोर्ड बनाने की इजाजत देना शिक्षा के निजीकरण को और बढ़ावा देगा। सिसोदिया ने कहा कि इसी तरह नई शिक्षा नीति में कॉलेजों को अपनी-अपनी डिग्री देने का अधिकार देने की बात कही गई है। इससे फर्जी डिग्री का धंधा खुले आम चलने लगेगा और हम चाहकर भी कुछ नहीं कर सकेंगे। नई शिक्षा नीति में उद्देश्य चाहे जितने अच्छे लिखे लेकिन क्लास रूम में पढ़ाने का उद्देश्य परीक्षा में पास करवाना ही होता है। 

यह इस बात पर निर्भर नहीं करता कि नीति में क्या लिखा है बल्कि यह इस बात पर निर्भर करता है कि पिछले पांच साल में उस पाठ से क्या-क्या सवाल पेपर ने पूछे गाए हैं। परीक्षा एवं मूल्यांकन प्रणाली में बदलाव किया जाना जरुरी है। नई शिक्षा नीति में केवल 'रटने की जगह सीखने' की बात लिख देने या कहने से कुछ बदलेगा नहीं।