नई दिल्ली : लोकसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी को जीत दिलवाने के लिए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने विकास कार्यों को तेज करने का निर्देश दिया है। उन्होंने विधायक निधि मद में आवंटित करीब 700 करोड़ रुपए से होने वाले काम को तेजी से करने के लिए अधिकारियों को फटकार लगाई है।

उन्होंने शहरी विकास सचिव को निर्देश देते हुए कहा कि अभी तक विधायक निधि से 225 करोड़ की राशि खर्च हो पाई जबकि जबकि 31 मार्च तक का समय बचा है। ऐसे में कुछ ही काफी कम समय बचा है। यदि चुनाव की घोषणा हो जाती है तो किसी भी कार्य का उद्घाटन नहीं कर पाएंगे।

बता दें कि पहले विधायकों को चार करोड़ रुपये की राशि आवंटित होती थी जिसे बढ़ाकर दस करोड़ रुपये कर दिया गया था। जिस कारण 70 विधायकों की निधि में 700 करोड़ रुपए का आवंटन इस वित्त वर्ष में हुआ। लेकिन कई विधायक इसे खर्च करने में पिछड़ गए।

हो रही बैठक समीक्षा
राशि को जल्द खर्च करने के लिए खुद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल विधायक निधि की समीक्षा कर रहे हैं। मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद शहरी विकास सचिव ने विधायकों के किसी भी प्रस्ताव को तुरंत अनुमति प्रदान करने का आदेश जारी कर दिया है। साथ ही सभी विधायक लगातार नई परियोजना का बजट बनाकर शहरी विकास विकास विभाग में जमा कर रहे हैं।

2900 करोड़ इजाफा
दिल्ली में वस्तु एंव सेवा कर के तहत इस वर्ष 2900 करोड़ रुपये की अधिक वसूली हुई है। 31 दिसंबर 2018 तक 22189 करोड़ रुपए की जीएसटी वसूल हो चुकी है। जबकि पिछले वर्ष 31 दिसंबर 2017 तक 19289 करोड़ रुपए था। वर्तमान वर्ष में 2900 करोड़ रुपए ज्यादा जीएसटी वसूल हो चुकी है।