BREAKING NEWS

भ्रष्टाचार के मामले में 180 देशों में 80वें स्थान पर भारत◾अमित शाह ने केजरीवाल पर लगाया दिल्ली में दंगा भड़काने का आरोप ◾मैंने अपना भगवा रंग नहीं बदला है : उद्धव ठाकरे◾राज की मनसे ने अपनाया भगवा झंडा, घुसपैठियों को बाहर करने के लिए मोदी सरकार को समर्थन◾भाजपा नेता ने मोदी को चेताया, देश बढ़ रहा है दूसरे विभाजन की तरफ◾पासवान से मिला ब्राजील का प्रतिनिधिमंडल, एथेनॉल प्रौद्योगिकी साझेदारी पर बातचीत◾हिंदू समाज में साधु-संतों को ऐसी भाषा शोभा नहीं देती : अखिलेश◾पदाधिकारी पार्टी के खिलाफ सोशल मीडिया पर टिप्पणी करने से बचें : ठाकरे◾दिल्ली की जनता तय करे, कर्मठ सरकार चाहिए या धरना सरकार चाहिए : शाह◾वन्य क्षेत्रों में अनधिकृत कॉलोनियों को नियमित नहीं किया जा सकता : दिल्ली सरकार◾मानसिक दिवालियेपन से गुजर रहा है कांग्रेस नेतृत्व : नड्डा◾निर्भया के दोषियों से पूछा : आखिरी बार अपने-अपने परिवारों से कब मिलना चाहेंगे , तो नहीं दिया कोई जवाब !◾विपक्ष की तुलना पाकिस्तान से करना भारत की अस्मिता के खिलाफ : कांग्रेस◾ब्राजील के राष्ट्रपति 24-27 जनवरी तक भारत यात्रा पर रहेंगे, गणतंत्र दिवस परेड में होंगे मुख्य अतिथि◾उत्तर प्रदेश : किसानों के मुद्दे पर सड़क पर उतरेगी कांग्रेस ◾कश्मीर मुद्दे पर विदेश मंत्रालय ने कहा-किसी तीसरे पक्ष की कोई भूमिका नहीं◾निर्भया मामले में आरोपियों के खिलाफ डेथ वारंट जारी करने वाले जज का हुआ ट्रांसफर◾CM नीतीश की चेतावनी पर पवन वर्मा बोले- मुझे चिट्ठी का जवाब नहीं मिला◾भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा बोले- देश हित में लिए प्रधानमंत्री के फैसलों से देश में नई ऊर्जा एवं उत्साह पैदा हुआ◾नेताजी ने हिंदू महासभा की विभाजनकारी राजनीति का विरोध किया था : ममता बनर्जी◾

दिल्ली में पानी को लेकर सियासी जंग छिड़ी

नई दिल्ली : केंद्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण द्वारा दिल्ली के पानी को भारतीय मानक ब्यूरो  (बीआईएस) से कराई गई जांच में पानी पीने योग्य न होने की रिपोर्ट के बाद दिल्ली में सियासी जंग छिड़ गई है। यह जंग दिल्ली के तीनों सियासी दल आम आदमी पार्टी, भाजपा और कांग्रेस कूद पड़ी है। 

दिल्ली में विधानसभा चुनाव का माहौल बना हुआ है, ऐसे में भाजपा पानी की इस रिपोर्ट के आधार पर इसे चुनावी मुद्दा बनाने निकल पड़ी है। इससे पहले शनिवार को केन्द्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने दिल्ली के पानी की रिपोर्ट जारी की थी। रविवार को इस मसले पर आप पार्टी के नेता, मंत्री और सांसद खड़े हो गए और बयानबाजी शुरू हो गई। राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने पासवान को आड़े हाथों लेते हुए तंज किया कि मौसम वैज्ञानिक अब पानी वैज्ञानिक बन गए हैं। 

दिल्ली जल बोर्ड बीआईएस के इस रिपोर्ट को मानने से इंकार ​कर दिया है। मंत्री दिनेश मोहनिया ने केन्द्रीय जल शक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत के बयान का हवाला देते हुए कहा है कि एक केन्द्रीय मंत्री दिल्ली के पानी की क्वालिटी यूरोपियन स्टैंडर्ड से बेहतर बता रहे हैं तो दूसरे मंत्री दूषित ठहरा हैं, कौन सभी यह तो वही बता पाएंगे? बहरहाल इस मुद्दे ने भाजपा और कांग्रेस को एक मुद्दा दे दिया है, जिसको लेकर दोनों राजनीतिक पार्टियां ​दिल्ली की केजरीवाल सरकार के खिलाफ रणनीति बनाने में लग गई हैं। 

भाजपा ने तो रविवार को घोषणा भी कर दी है कि वह दिल्ली में 400 जगहों से पानी के सैंपल लेकर उनकी जांच करवाएगी और दिल्ली सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करेगी। दूसरी तरफ कांग्रेस ने भी मोर्चा खोलने की घोषणा की है। कांग्रेस का कहना है कि जब तक दिल्ली में शीला दीक्षित की सरकार थी कभी भी ऐसी स्थिति नहीं आई, लेकिन अब तो दिल्ली में प्रदूषण के साथ-साथ दिल्ली का पानी भी दूषित हो गया है। ​

आखिर दिल्ली के लोग कहां जाएंगे? जल्द ही पानी के मुद्दे को लेकर कांग्रेस सड़कों पर उतरेगी। दूसरी तरफ अपने ऊपर हुए आप पार्टी के हमले के बाद कहा है कि क्यों नहीं शुद्ध पार्टी को भी उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम में शामिल कर दिया जाए, ताकी दूषित पानी को भी उपभोक्ता अदालत में चुनौती दी जा सके।