BREAKING NEWS

कोरोना संकट : देश में कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 1000 के पार, मौत का आंकड़ा पहुंचा 24◾कोरोना महामारी के बीच प्रधानमंत्री मोदी आज करेंगे मन की बात◾कोरोना : लॉकडाउन को देखते हुए अमित शाह ने स्थिति की समीक्षा की◾इटली में कोरोना वायरस का प्रकोप जारी, मरने वालों की संख्या बढ़कर 10,000 के पार, 92,472 लोग इससे संक्रमित◾स्पेन में कोरोना वायरस महामारी से पिछले 24 घंटों में 832 लोगों की मौत , 5,600 से इससे संक्रमित◾Covid -19 प्रकोप के मद्देनजर ITBP प्रमुख ने जवानों को सभी तरह के कार्य के लिए तैयार रहने को कहा◾विशेषज्ञों ने उम्मीद जताई - महामारी आगामी कुछ समय में अपने चरम पर पहुंच जाएगी◾कोविड-19 : राष्ट्रीय योजना के तहत 22 लाख से अधिक सार्वजनिक स्वास्थ्य सेवा कर्मियों को मिलेगा 50 लाख रुपये का बीमा कवर◾कोविड-19 से लड़ने के लिए टाटा ट्रस्ट और टाटा संस देंगे 1,500 करोड़ रुपये◾लॉकडाउन : दिल्ली बॉर्डर पर हजारों लोग उमड़े, कर रहे बस-वाहनों का इंतजार◾देश में कोविड-19 संक्रमण के मरीजों की संख्या 918 हुई, अब तक 19 लोगों की मौत ◾कोरोना से निपटने के लिए PM मोदी ने देशवासियों से की प्रधानमंत्री राहत कोष में दान करने की अपील◾कोरोना के डर से पलायन न करें, दिल्ली सरकार की तैयारी पूरी : CM केजरीवाल◾Coronavirus : केंद्रीय राहत कोष में सभी BJP सांसद और विधायक एक माह का वेतन देंगे◾लोगों को बसों से भेजने के कदम को CM नीतीश ने बताया गलत, कहा- लॉकडाउन पूरी तरह असफल हो जाएगा◾गृह मंत्रालय का बड़ा ऐलान - लॉकडाउन के दौरान राज्य आपदा राहत कोष से मजदूरों को मिलेगी मदद◾वुहान से भारत लौटे कश्मीरी छात्र ने की PM मोदी से बात, साझा किया अनुभव◾लॉकडाउन को लेकर कपिल सिब्बल ने अमित शाह पर कसा तंज, कहा - चुप हैं गृहमंत्री◾बेघर लोगों के लिए रैन बसेरों और स्कूलों में ठहरने का किया गया इंतजाम : मनीष सिसोदिया◾कोविड-19 : केरल में कोरोना वायरस से पहली मौत, देश में अबतक 20 लोगों की गई जान ◾

खुले में जल रही प्लास्टिक से हवा हो रही दूषित

पश्चिमी दिल्ली : एक बार फिर राजधानी की आबोहवा जहरीली हो गई है। साथ ही दिल्ली में कूड़ा जलाने पर सरकार की सख्ती भी हवा-हवाई दिख रही है। हर साल ठंड का मौसम आते ही दिल्ली गैस चेम्बर में तब्दील हो जाती है। बावजूद सिविक एजेंसियां और दिल्ली सरकार की नींद इस मसले पर अंत में जाकर खुलती है। राजधानी के अलग-अलग इलाकों में खाली पड़ी जमीन व सड़क किनारे खुलेआम कूड़े को जलाया जा रहा है। कूड़े में मौजूद पॉलीथिन व प्लास्टिक जलने से आबोहवा को और भी जहरीला कर रही है। रविवार को जब लोग द्वारका मोड़ स्थित नजफगढ़ नाले की तरफ से गुजर रहे थे तभी कुछ लोगों के आंखों में जलन होने लगी।

यही नहीं उन्हें सांस लेने में भी बहुत दिक्कत आने लगी। जैसे-तैसे लोग वहां से दूर भागे और राहत की सांस ली। ऐसे में दिल्ली सरकार और सिविक एजेंसियों को आगे आकर कूड़ा वेस्ट को जलाने से रोकना होगा। साथ ही लोगों को जागरूकता करने के लिए सरकार को सामने आना चाहिए। राजधानी में बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए कुछ सरकारी संस्थान और सामाजिक संस्थाओं ने जरूर इस दिशा में पहल की है। भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान के प्रधान वैज्ञानिक डॉ. जीपीएस डबास बताते हैं कि इन दिनों किसान गेंहू फसल की कटाई करते हैं।

प्लास्टिक प्रदूषण की चपेट में दिल्ली

अधिक खेती करने वाले किसान गेंहू की फसल कटवाने में मशीन का उपयोग करते हैं। ​इसके बाद किसान खेतों में बचे पराली को आग के हवाले कर देते हैं। खासकर दिल्ली और आसपास के किसान ऐसा करते हैं। ऐसे करने से प्रदूषण का लेवल तो बढ़ता ही है साथ ही उस खेत की उर्वरता भी कम होती है। ऐसे में पूसा किसानों को जागरूक करने के लिए देशभर में हर साल जागरूकता अभियान चलाती है।