पूर्वी दिल्ली : न्यू अशोक नगर पुलिस ने इलाके में 74 वर्षीय बुजुर्ग महिला के घर में ​घुसकर सिर पर पिस्टल मारकर लूटपाट करने के मामले को सुलझा लिया है। इस मामले में पुलिस ने पीड़िता पूर्णिमा के पड़ोस में रहने वाली महिला समेत पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपियों की पहचान मास्टर माइंड पवन उर्फ जितेंद्र (30), जुग्नू उर्फ सागर (37), राजकुमार उर्फ राजू (48), विक्की (32) और निशा रानी (35) के तौर पर हुई है।

इनके पास से एक देसी पिस्टल, छह कारतूस, वारदात में इस्तेमाल की गई दो बाइक, लूटी गई जूलरी के अलावा अन्य सामान बरामद किया है। पुलिस सभी आरोपियों से पूछताछ कर मामले की छानबीन कर रही है। एडिशनल डीसीपी जसमीत सिंह के मुताबिक, गत 22 अक्टूबर की सुबह शादी का कार्ड देने पहुंचे दो लोगों द्वारा पूर्णिमा नामक बुजुर्ग महिला से घर में घुसकर लूटपाट करने की सूचना मिली थी। आरोपियों ने विरोध करने पर पीड़िता के सिर पर पिस्टल की बट से हमला कर दिया था। पुलिस ने पी​ड़िता के बयान पर संबंधित धाराओं में केस दर्ज किया। साथ ही एक टीम का गठन कर उन्हें मामले की छानबीन में लगाया।

दिल्ली में सुरक्षित नहीं हैं बुजुर्ग

जांच के दौरान टीम को कुछ लोगों पर संदेह हुआ। सभी को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई तो वह टूट गए। पूछताछ में ओरोपियों ने खुलासा किया कि पवन लूट का मास्टर माइंड था। निशा रानी पूर्णिमा के घर पास रहती है। पवन उसके यहां किराये पर रहता है। वह अचानक शादी करके घर लौटा और उसने निशा से कहीं लूटपाट जल्द पैसा कमाने की बात कही। इस पर निशा ने उसे पूर्णिमा के बारे में बताया।