BREAKING NEWS

गुजरात : कलोल से PM मोदी का कांग्रेस पर बड़ा हमला, कहा- चल रही है प्रधानमंत्री को गाली देने की होड़◾दिल्ली : जज का महिला कर्मचारी संग अश्लील MMS वायरल , HC ने सस्पेंड कर सरकार को दिया ये आदेश◾AAP के गोपाल इटालिया का आरोप - 'जानबूझकर स्लो वोटिंग करा रहा है EC, एक बच्चे को हराने के लिए इतना मत गिरो '◾Gujarat Assembly Election: PM मोदी आज अहमदाबाद में रोड शो से पहले कई जनसभाओं को भी करेंगे संबोधित◾LAC पर सैन्य चौकियां बना रहा है चीन, आक्रामक रुख पर अमेरिकी सांसद का बड़ा बयान◾राहुल गांधी को मिला अभिनेत्री स्वरा भास्कर का साथ, Bharat Jodo Yatra में दिग्गज नेताओं के साथ हुईं शामिल◾दूल्हे ने स्टेज पर किया KISS ..तो दुल्हन ने तोड़ी शादी, बोली-इनका चरित्र ठीक नहीं◾अमेरिका में VR Headset नहीं खरीदने पर 10 साल के बच्चे ने की अपनी मां हत्या◾गुजरात : मतदान से पहले BJP उम्मीदवार पर जानलेवा हमला, कांग्रेस पर लगा गंभीर आरोप◾Shraddha Murder Case: नार्को में सवालों के जवाब उगलेगा आफताब, अस्पताल के बाहर कड़ी सुरक्षा◾गुजरात चुनाव 2022 : जानिये कौन है साइकिल पर गैस सिलेंडर लेकर वोट डालने पहुंचे कांग्रेस उम्मीदवार◾श्रद्धा मर्डर केस : आज होगा आफताब का नार्को टेस्ट, आरोपी को अंबेडकर अस्पताल लेकर पहुंची पुलिस◾कोविड-19 : देश में पिछले 24 घंटो में 291 नए मामले दर्ज, उपचाराधीन मरीजों की संख्या घटकर 4,767 ◾गुजरात विधानसभा चुनाव : पहले चरण के लिए मतदान शुरू, 788 उम्मीदवारों की किस्मत का होगा फैसला ◾गुजरात चुनाव के पहले चरण का मतदान शुरू, PM मोदी व गृहमंत्री ने की बड़ी संख्या में मतदान की अपील◾आज का राशिफल (01 दिसंबर 2022)◾खुद के विकास में जुटे नेता, एमसीडी चुनाव दोबारा लड़ रहे 75 पार्षदों की संपत्ति में तीन से 4,437% तक की वृद्धि : ADR◾SC ने कहा- सबसे महत्वपूर्ण सवाल, क्या ‘जल्लीकट्टू’ को किसी भी रूप में अनुमति दी जा सकती◾सीएम योगी ने कहा- सैनी ने मुजफ्फरनगर की गरिमा बचाने के लिए खोई विधानसभा सदस्यता◾Congress ने कहा- तीसरी तिमाही में आर्थिक वृद्धि दर और गिरने का डर, सच्चाई से मुंह नहीं मोड़ें PM◾

चमगादड़ केरल में निपाह विषाणु फैलने के मूल स्रोत नहीं : रिपोर्ट 

केरल के कोझीकोड और मलप्पुरम जिलों से चमगादड़ों से एकत्रित नमूनों की जांच में उनमें निपाह विषाणु नहीं मिला है। यह बात एक केंद्रीय मेडिकल टीम ने स्वास्थ्य मंत्रालय को सौंपी गई एक रिपोर्ट में कही है। कोझीकोड और मलप्पुरम जिलों में निपाह विषाणु के संक्रमण से 12 व्यक्तियों की मौत हो गई थी।

स्वास्थ्य मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि रिपोर्ट में निपाह विषाणु फैलने में चमगादड़ और सूअर के मूल स्रोत होने से इनकार किया गया है। मेडिकल टीम अब निपाह विषाणु फैलने के अन्य संभावित कारणों का पता लगा रही है। कुल 21 नमूने एकत्रित किये गए थे जिसमें से सात चमगादड़ , दो सूअर , एक गोवंश और एक बकरी या भेड़ से था। इन नमूनों को भोपाल स्थित राष्ट्रीय उच्च सुरक्षा पशुरोग संस्थान और पुणे स्थित राष्ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान भेजा गया था।

अधिकारी ने कहा, \"इन नमूनों में उन चमगादड़ों के नमूने भी शामिल थे जो कि केरल में पेराम्बरा के उस घर के कुएं में मिले थे जहां शुरूआती मौत की सूचना मिली थी। इन नमूनों में निपाह विषाणु नहीं पाये गए हैं।\" ऐसे लोग जिनके निपाह विषाणु से संक्रमित होने का संदेह था उनके नमूनों में भी यह विषाणु नहीं पाया गया है।

उन्होंने कहा , \"इसका मतलब है कि इस विषाणु से संक्रमित होने वाले केवल 15 पुष्ट मामले हैं जिसमें से 12 ऐसे हैं जिनकी मृत्यु हो चुकी है। तीन व्यक्तियों का इलाज चल रहा है।\" हिमाचल प्रदेश में मृत मिले चमगादड़ों के नमूने पुणे भेजे गए थे , उनमें भी यह विषाणु नहीं मिला है। इसके साथ ही हैदराबाद के संदिग्ध मामलों के दो नमूनों में भी यह विषाणु नहीं मिले हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय ने लोगों से आग्रह किया है कि वे घबरायें नहीं।

मंत्रालय ने कहा है कि निपाह विषाणु का फैलना केरल तक सीमित है। मंत्रालय ने आम जनता और स्वास्थ्य देखभाल सुविधा मुहैया कराने वालों को बचाव उपाय करने की सलाह दी है। राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र निदेशक के नेतृत्व में एक केंद्रीय टीम केरल में स्थिति पर निरंतर नजर रखे हुए है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि सम्पर्क का पता लगाने की रणनीति सफल रही है। उसने कहा कि यह पता चला है कि जो भी मामले सामने आये हैं उनमें शामिल व्यक्ति उस व्यक्ति या उसके परिवार के सीधे या अप्रत्यक्ष सम्पर्क में आया जिसकी इसके चलते पहली मौत हुई थी।

अधिक लेटेस्ट खबरों के लिए यहां क्लिक करें।