BREAKING NEWS

PM मोदी और राष्ट्रपति ट्रंप के बीच फोन पर हुई बात, ट्रंप ने मोदी को G-7 सम्मेलन में शामिल होने का दिया न्योता◾चक्रवात निसर्ग : राहुल गांधी बोले- महाराष्ट्र और गुजरात के लोगों के साथ पूरा देश खड़ा है ◾महाराष्ट्र में कोरोना का कहर जारी, आज सामने आए 2,287 नए मामले, संक्रमितों का आंकड़ा 72 हजार के पार ◾वित्त मंत्रालय में कोरोना वायरस ने दी दस्तक, मंत्रालय के 4 कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव ◾कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच, सरकार ने कहा- भारत महामारी से लड़ाई के मामले में अन्य देशों से बेहतर स्थिति में ◾जेसिका लाल हत्याकांड : उपराज्यपाल की अनुमति पर समय से पहले रिहा हुआ आरोपी मनु शर्मा ◾बाढ़ से घिरे असम के 3 जिलों में भूस्खलन, 20 लोगों की मौत, कई अन्य हुए घायल◾दिल्ली BJP अध्यक्ष पद से मनोज तिवारी का हुआ पत्ता साफ, आदेश गुप्ता को सौंपा गया कार्यभार◾दिल्ली हिंसा मामले में ताहिर हुसैन समेत 15 के खिलाफ दायर हुई चार्जशीट◾Covid-19 : अब घर बैठे मिलेगी अस्पतालों में खाली बेड की जानकारी, CM केजरीवाल ने लॉन्च किया ऐप◾कारोबारियों से बोले PM मोदी-देश को आत्मनिर्भर बनाने का लें संकल्प, सरकार आपके साथ खड़ी है◾ ‘बीएए3’ रेटिंग को लेकर राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर साधा निशाना, कहा-अभी तो स्थिति ज्यादा खराब होगी ◾कपिल सिब्बल का केंद्र पर तंज, कहा- 6 साल का बदलाव, मूडीज का डाउनग्रेड अब कहां गए मोदी जी?◾महाराष्ट्र और गुजरात में 'निसर्ग' चक्रवात का खतरा, राज्यों में जारी किया गया अलर्ट, NDRF की टीमें तैनात◾कोरोना वायरस : देश में महामारी से 5598 लोगों ने गंवाई जान, पॉजिटिव मामलों की संख्या 2 लाख के करीब ◾Covid-19 : दुनियाभर में वैश्विक महामारी का प्रकोप जारी, मरीजों की संख्या 62 लाख के पार पहुंची ◾डॉक्टर ने की जॉर्ज फ्लॉयड की हत्या की पुष्टि, कहा- गर्दन पर दबाव बनाने के कारण रुकी दिल की गति◾अमेरिका में कोरोना संक्रमितों की संख्या में बढ़ोतरी जारी, मरीजों की आंकड़ा 18 लाख के पार हुआ ◾भारत में कोविड-19 से ठीक होने की दर पहुंची 48.19 प्रतिशत,अब तक 91,818 लोग हुए स्वस्थ : स्वास्थ्य मंत्रालय ◾महाराष्ट्र में बीते 24 घंटे में कोरोना के 2,361 नए मामले, संक्रमितों का आंकड़ा 70 हजार के पार, अकेले मुंबई में 40 हजार से ज्यादा केस◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

BCI ने गुंडागर्दी करके संस्थान को बदनाम करने वाले वकीलों की पहचान के लिए लिखा पत्र

तीस हजारी कोर्ट में वकीलों और पुलिस के बीच संघर्ष के बाद की घटनाओं के मद्देनजर ‘बार काउंसिल ऑफ इंडिया’ ने बार संगठनों को पत्र लिखकर ‘गुंडागर्दी में संलिप्त’ वकीलों की पहचान करने का अनुरोध किया है। इस संस्था ने वकीलों से अपना विरोध खत्म करने का आग्रह किया है क्योंकि यह संस्थान को बदनाम कर रहा है। 

बार काउन्सिल ऑफ इंडिया के अध्यक्ष मनन कुमार मिश्रा ने इस तरह के ‘उपद्रवी तत्वों’ को बख्शने से संस्थान की छवि खराब कर रही है और बार संगठनों की यही निष्क्रियता तथा सहनशीलता ऐसे वकीलों का हौसला बढ़ाती है। अंत में इसकी परिणति हाई कोर्ट्स या सुप्रीम कोर्ट में अवमानना कार्यवाही के रूप में होती है। 

मिश्रा ने अपने पत्र में कहा, ‘‘दिल्ली हाई कोर्ट के शानदार कदम के बाद भी जिस तरह से कुछ वकीलों ने आचरण कर रहे हैं, कुछ वकीलों के कल (चार नवंबर) के आचरण ने हमें विचलित किया है। कोर्ट से अनुपस्थित रहने या हिंसा का सहारा लेना हमारे लिये मददगार नहीं होगा बल्कि ऐसा करके हम अदालतों, जांच कर रहे न्यायाधीशी, सीबीआई, गुप्तचर ब्यूरो और सतर्कता विभाग की सहानुभूति भी खो रहे हैं। यहां तक कि आम जनता की राय भी हमारे विरूद्ध जा रही है। 

इसके नतीजे खतरनाक हो सकते हैं।’’ दिल्ली हाई कोर्ट ने रविवार को हुयी घटना के बारे में मीडिया में आयी खबरों का स्वत: संज्ञान लिया और कहा कि पूर्व न्यायाधीश एस. पी. गर्ग इस मामले की न्यायिक जांच करेंगे। हाई कोर्ट ने जांच के दौरान विशेष आयुक्त संजय सिंह और अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त हरिन्दर सिंह का तबादला करने का निर्देश पुलिस आयुक्त को दिया और यह भी स्पष्ट किया कि किसी भी वकील के खिलाफ कोई दण्डात्मक कार्रवाई नहीं की जायेगी। 

तीस हजारी विवाद: पुलिस मुख्यालय के बाहर हजारों पुलिसकर्मी का प्रदर्शन, कमिश्नर बोले- यह हमारे लिए परीक्षा की घड़ी

इस पत्र में दिल्ली की बार एसोसिएशनों के बड़े नेताओं से अपील की गयी है कि वे सोमवार को पारित प्रस्ताव वापस ले लें और मंगलवार से ही अपना काम शुरू कर दें। इसमे यह भी चेतावनी दी है कि वह इस पूरे प्रकरण से अपना समर्थन वापस लेगी। बार काउन्सिल आफ इंडिया ने बार एसोसिएशनों के प्रस्ताव को निरर्थक और बगैर किसी कानूनी आधार वाला बताया। इस प्रस्ताव में कहा गया है कि यदि पुलिसकर्मियों को गिरफ्तार नहीं किया गया तो वे अनिश्चितकालीन हड़ताल करेंगे।