नई दिल्ली : मणिपुर के रास्ते दिल्ली की रगों में शराब उतारने वाले तीन तस्करों को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों की पहचान राजस्थान निवासी अब्दुल राशिद (26), अरबाज मोहम्मद (21) अैर मोहम्मद नाजिम (22) के रूप में हुई, जिनके पास से पुलिस ने 30 किलोग्राम बेहद उम्दा किस्म की हेरोइन बरामद की गई है।

बरामद हेरोइन म्यांमार के रास्ते मणिपुर पहुंची थी और फिर उसे दिल्ली, मध्य प्रदेश और राजस्थान ले जाया जा रहा था। पुलिस को आरोपियों के पास से मारुति अर्टिगा कार भी बरामद हुई है, जिसमें स्पेशल कैविटी (विशेष जगह) बनाकर हेरोइन को छुपाया जाता था। बताया जा रहा है कि वर्ष 2018 में यह अब तक की सबसे बड़ी हेरोइन की बरामदगी है।

पुलिस उपायुक्त, स्पेशल सेल प्रमोद सिंह कुशवाह ने बताया कि इस साल सेल ने नशे के सौदागरों के खिलाफ विशेष अभियान 20 से अधिक गिरोह का पर्दाफाश करके 198 किलोग्राम से अधिक की हेरोइन बरामद की है। उन्होंने बताया कि पुलिस को सूचना मिल रही थी, जिसमें एक अंतर्राष्ट्रीय गिरोह म्यांमार से मणिपुर के रास्ते देश के बाकी राज्यों यूपी, एमपी, राजस्थान व दिल्ली में हेरोइन सप्लाई करने की बात कही गई थी।

सूचना के बाद एसीपी अतर सिंह की देखरेख में इंस्पेक्टर शिव कुमार की टीम का गठन कर गिरोह की सूचना जुटाई गई और आरके पुरम सेक्टर-12 स्थित अंबेडकर पार्क के पास आने वाला है। पुलिस ने जाल बिछाकर आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने आरोपियों की कार से पांच पांच किलो के छह डिब्बे बरामद हुए।

पूछताछ के दौरान अब्दुल राशिद ने बताया कि वह गिरोह का लीडर है और पिछले करीब चार सालों से वह हेरोइन तस्करी कर रहा है। आरोपी सुपारी की ट्रकों में हेरोइन को छिपाकर लाता था।