उत्तर पूर्वी दिल्ली के बुराड़ी इलाके में एक ही परिवार के 11 लोगों की आत्महत्या कर लेने का सदमा उनका स्वामीभक्त कुत्ता भी बर्दाश्त नहीं कर पाया और हादसे के महज 22 दिन बाद इस दुनिया को अलविदा कह गया। पोस्टमार्टम के बाद सोमवार को नोएडा में उसे दफना दिया गया। 30 जून की रात को बुराड़ में रहने वाले भाटिया परिवार के 11 लोगों ने मौत को गले लगा लिया था। पूरे परिवार के आत्महत्या कर लेने के बाद उनके स्वामीभक्त कुत्ते ‘टॉमी’ की देखभाल करने वाला कोई नहीं रह गया था।

कुत्ते को नोएडा स्थित हाउस आफ स्ट्रे एनिमल्स नामक स्वयंसेवी संगठन को सौंप दिया गया था जहां रविवार की शाम 6 बजे उसकी हदृयगति रुक जाने से मृत्यु हो गई। संगठन के संस्थापक संजय महापात्र ने सोमवार को बताया कि टॉमी यहां लाने के बाद से अक्सर सुस्त रहता था। उसकी पूरी देखभाल की जा रही थी किंतु रविवार को सांय छह बजे हृदयगति रुकने से मृत्यु उसकी हो गई। इसकी इत्तला दिल्ली पुलिस और नोएडा पुलिस को दी गई। टामी का पोस्टमार्टम करने के बाद उसे सोमवार को 11 बजे नोएडा के सेक्टर 57 स्थित हरित क्षेत्र में दफना दिया गया।