BREAKING NEWS

दिल्ली-NCR में सांस लेना हुआ दूभर, गंभीर श्रेणी में पहुंची हवा◾राष्ट्रपति कोविंद और PM मोदी ने गुरु नानक जयंती की दी शुभकामनाएं◾भारत को गुजरात में बदलने के प्रयास : तृणमूल कांग्रेस सांसद ◾विदेश मंत्री एस जयशंकर ने अपने डच समकक्ष के साथ विभिन्न विषयों पर चर्चा की ◾महाराष्ट्र गतिरोध : राकांपा नेता अजित पवार राज्यपाल से मिलेंगे ◾महाराष्ट्र : शिवसेना का समर्थन करना है या नहीं, इस पर राकांपा से और बात करेगी कांग्रेस ◾महाराष्ट्र : राज्यपाल ने दिया शिवसेना को झटका, और वक्त देने से किया इनकार◾CM गहलोत, CM बघेल ने रिसॉर्ट पहुंचकर महाराष्ट्र के नवनिर्वाचित विधायकों से मुलाकात की ◾दोडामार्ग जमीन सौदे को लेकर आरोपों पर स्थिति स्पष्ट करें गोवा CM : दिग्विजय सिंह ◾सरकार गठन फैसले से पहले शिवसेना सांसद संजय राउत की तबीयत बिगड़ी, अस्पताल में भर्ती◾महाराष्ट्र: सरकार गठन में उद्धव ठाकरे को सबसे बड़ी परीक्षा का करना पड़ेगा सामना !◾महाराष्ट्र गतिरोध: उद्धव ठाकरे ने शरद पवार से की मुलाकात, सरकार गठन के लिए NCP का मांगा समर्थन ◾अरविंद सावंत ने दिया इस्तीफा, बोले- महाराष्ट्र में नई सरकार और नया गठबंधन बनेगा◾महाराष्ट्र में सरकार गठन पर बोले नवाब मलिक- कांग्रेस के साथ सहमति बना कर ही NCP लेगी फैसला◾CWC की बैठक खत्म, महाराष्ट्र में शिवसेना को समर्थन देने पर शाम 4 बजे होगा फैसला◾कांग्रेस का महाराष्ट्र पर मंथन, संजय निरुपम ने जल्द चुनाव की जताई आशंका◾महाराष्ट्र में शिवसेना को समर्थन देने पर कांग्रेस-NCP ने नहीं खोले पत्ते, प्रफुल्ल पटेल ने दिया ये बयान◾BJP अगर वादा पूरा करने को तैयार नहीं, तो गठबंधन में बने रहने का कोई मतलब नहीं : संजय राउत◾महाराष्ट्र सरकार गठन: NCP ने बुलाई कोर कमेटी की बैठक, शरद पवार ने अरविंद के इस्तीफे पर दिया ये बयान ◾संजय राउत का ट्वीट- रास्ते की परवाह करूँगा तो मंजिल बुरा मान जाएगी◾

दिल्ली – एन. सी. आर.

प्रदूषण की मार से चौपट, सदर का पटाखा व्यापार

नई दिल्ली : दिल्ली में बदलते मौसम ने पटाखे व्यापारियों की समस्या बढ़ा दी है। कोर्ट के सख्त रुख और पटाखे से होने वाली प्रदूषण को देखते हुए आ रही जागरूकता से पटाखा व्यापारियों का व्यापार मंदा हो गया है। दीपावली नजदीक आने के बावजूद सदर बाजार में पटाखा व्यापार काफी मंदा है।

हालत यह है कि व्यापार न होने के कारण यहां के पटाखा व्यापारी इस कारोबार से अब मुंह मोड़ने लगे हैं। इस संबंध में व्यापारियों का कहना है कि पिछले वर्ष कोर्ट के अचानक फैसले के कारण सदर बाजार के 70 पटाखा व्यापारियों को कारोबार में करोड़ो का नुकसान सहना पड़ा था। फेडरेशन ऑफ सदर बाजार ट्रेडर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष राकेश कुमार यादव ने बताया कि पिछले साल सदर बाजार में पटाखों की 72 दुकानों को लाइसेंस दिया गया था। इनमें से दो दुकानों को स्थायी लाइसेंस मिला हुआ है।

यह लाइसेंस दिल्ली पुलिस ने दिया था। लाइसेंस मिलते ही दुकानदारों ने लाखों रुपए के पटाखे दुकान में भर दिये। लेकिन तीन दिन बाद ही कोर्ट ने पटाखा पर बैन लगा दिया। अचानक इस फैसले से व्यापारियों को नुकसान हुआ। यदि कोई ऐसा फैसला लेना हो तो लाइसेंस न जारी किया जाए।

देशभर में पटाखा बेचना हो बैन... एसोसिएशन अध्यक्ष राकेश कुमार ने बताया कि पटाखा चलाना सनातन धर्म में परंपरा नहीं रहा है। इसे हमलोगों ने ही बढ़ावा दिया है। भगवान श्रीराम जब लंका जीतकर आये थे तब लोगों ने दीया जलाकर प्रकाश पर्व बनाया था। उन्होंने कोर्ट व सिविक एजेंसियों से निवेदन किया है कि पटाखा चलाने से अत्यधिक प्रदूषण वायु में फैलता है, जो हमारे शरीर को नुकसान पहुंचाता है। ऐसे में देशभर में पटाखा बैन होना चाहिए। सदर बाजार में कुल 40 हजार दुकानें हैं। दीपावली के समय कई बार पटाखे से दुकानों में आग की घटनाएं हो चुकी हैं। इससे आसपास की कई दुकानें भी इसके चपेट में आ गए हैं और लाखों का नुकसान हुआ है।

व्यापारियों का उत्साह खत्म कुतुब रोड रेजीडेंट एसोसिएशन, सदर बाजार के महासचिव राजेन्द्र कुमार गुप्ता ने बताया कि कुतुब रोड पर पिछले साल कुछ 20 पटाखे की दुकानों को लाइसेंस दिया गया था। लेकिन कोर्ट के फरमान के बाद व्यापारियों का इस कारोबार से उत्साह खत्म हो गया है। दीपावली हमलोगों का सबसे बड़ा त्योहार है। उन्होंने कहा प्रदूषण को रोकने के लिए सरकार के पास कोई रोडमैप तैयार नहीं है। जब सरकार को पता है कि दीपावली के आसपास आबोहवा खराब हो जाती है तो पहले ही इससे निबटने की तैयारी क्यों नहीं करते। इसका खा​मियाजा व्यापरियों को भुगतना पड़ता है।

SC का राजधानी में पटाखों पर प्रतिबंध पर ढील से इंकार, व्यापारियों की अर्जी की खारिज