BREAKING NEWS

LIVE : ताजमहल का दीदार करके बोले राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प- ताज ने हमें प्रेरित और चकित किया◾जाफराबाद में CAA को लेकर पथराव, गाड़ियों में लगाई गई आग, एक पुलिसकर्मी की मौत◾मोटेरा स्टेडियम में दिखी ट्रंप और मोदी की दोस्ती, दोनों दिग्गज ने एक-दूसरे की तारीफ में पढ़ें कसीदे ◾दिल्ली के मौजपुर में लगातार दूसरे दिन CAA समर्थक एवं विरोधी समूहों के बीच झड़प ◾CM केजरीवाल और मनीष सिसोदिया ने दिल्ली विधानसभा की सदस्यता की शपथ ली◾ट्रम्प के स्वागत में अहमदाबाद तैयार, छाए भारत-अमेरिकी संबंधों वाले इश्तेहार◾दिल्ली और झारखंड में BJP विधानमंडल दल के नेता का आज होगा ऐलान ◾जाफराबाद में CAA को लेकर हुई पत्थरबाजी के बाद इलाके में तनाव, मेट्रो स्टेशन बंद◾Modi सरकार ने पद्म सम्मान के लिये ‘गुमनाम’ चेहरे खोजे : केंद्रीय मंत्री◾अब कुछ ही घंटो में भारत यात्रा के लिए अहमदाबाद पहुंचेंगे अमेरिकी राष्ट्रपति Trump , मोदी को बताया दोस्त◾मेलानिया का स्वागत करके खुशी होती, हमने अमेरिकी दूतावास की चिंताओं का किया सम्मान : मनीष सिसोदिया◾Trump की भारत यात्रा से किसी महत्वपूर्ण परिणाम के सकारात्मक संकेत नहीं हैं : कांग्रेस◾US राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भारत के लिए रवाना, कल सुबह 11.55 बजे पहुंचेंगे अहमदाबाद, जानिए ! पूरा कार्यक्रम◾अमेरिकी दूतावास की सफाई - स्कूल में मेलानिया के साथ CM केजरीवाल की मौजूदगी से कोई आपत्ति नहीं◾ट्रंप की भारत यात्रा को लेकर PM मोदी बोले - अमेरिकी राष्ट्रपति के स्वागत को लेकर हिंदुस्तान उत्सुक◾ट्रम्प की थाली में परोसे जाएंगे गुजराती व्यंजन, सूची में खमण भी शामिल ◾नमस्ते ट्रंप : एयर इंडिया ने जारी की एडवाइजरी - यात्रियों को अहमदाबाद हवाईअड्डा जल्द पहुंचने की जरूरत◾भारत 24वां देश जिसके दौरे पर आ रहे हैं अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप◾डिजिटल कंपनियों पर वैश्विक कर व्यवस्था समावेशी हो: सीतारमण ◾प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के लाभार्थियों के खाते में भेजे गए 50850 करोड़ रुपये◾

JNU में हिंसा के बाद कैब और ऑटोरिक्शा चालक परिसर जाने से कर रहे है इनकार

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में रविवार रात हुई हिंसा के बाद कई कैब और ऑटोरिक्शा चालक विद्यार्थियों को परिसर से लेने या उन्हें छोड़ने जाने के लिए तैयार नहीं हो रहे हैं। जेएनयू के कई विद्यार्थियों ने बताया कि कैब और ऑटोरिक्शा चालक ‘विश्वविद्यालय की परिस्थितियों’ का हवाला देते हुए विश्वद्यालय आने-जाने से मना कर रहे हैं। 

जेएनयू की छात्रा देबोमिता चटर्जी ने कहा, ‘‘ हम विरोध प्रदर्शन के लिए जेएनयू से मंडी हाउस जाना चाहते थे लेकिन चालकों ने विश्वविद्यालय परिसर में आने से मना कर दिया। उन्होंने हमें हमारे छात्रावास से दूर अरुणा आसफ अली मार्ग के निकट टी-प्वाइंट पर आने के लिए कहा।’’ उन्हें और अन्य तीन विद्यार्थियों को भी लंबी दूर तक चलना पड़ा, इसके बाद ही उन्हें परिवहन साधन मिल पाया। उन्हें इस बीच नार्थ गेट से आगे दोनों छोरों पर भारी बैरिकेडिंग से भी बहुत दिक्कत हुई। 

कई अन्य छात्रों का कहना है कि कैब चालक को जैसे ही पता चलता है कि उन्हें छात्रों को लेने या छोड़ने के लिए जेएनयू जाना है, वह यात्रा रद्द कर देते हैं। नाम न जाहिर करने की शर्त पर एक कैब चालक ने कहा, ‘‘ ऐसा नहीं है कि हम यात्रियों को पहले छोड़ने या लेने नहीं जाते थे लेकिन जेएनयू में स्थिति ऐसी है कि हम खतरा मोल नहीं ले सकते हैं, तब क्या होगा जब हमारे वाहन को कोई नुकसान पहुंचाने लगे।’’ 

बजट पर किसानों, युवाओं और महिलाओं की आवाज नहीं सुनना चाहते PM मोदी : राहुल गांधी

विद्यार्थियों को विश्वविद्यालय के मुख्य दरवाजे से दूर कैब लेते हुए देखा गया और कई चालकों का कहना है कि जेएनयू या इसके निकट वाहनों को नहीं ले जाने के पीछे सुरक्षा की चिंता मुख्य कारण है। हौज खास से जेएनयू परिसर जाने को कहने पर कुछ ऑटो चालक सीधे तौर पर मना कर देते हैं या अपने वाहन को तेज करके निकल जाते हैं। एक ऑटोरिक्शा चालक सतपाल ने कहा, ‘‘ वहां स्थिति अच्छी नहीं है, इसलिए मैं खतरा मोल नहीं ले सकता हूं। मैं एक गरीब ऑटोवाला हूं। मुझे रोजी-रोटी जुटानी पड़ती है। इसलिए मुझे सतर्क रहना है। जेएनयू में स्थिति कभी भी बदल सकती है। कौन जानता था कि रविवार को स्थिति इतनी डरावनी हो जाएगी।’’ 

वहीं एक अन्य चालक दलजीत सिंह ने कहा कि वह यात्रियों को विश्वविद्यालय परिसर ले जाते हैं। उन्होंने कहा, ‘‘ जब हिंसक घटना हुई तो मेरा भाई परिसर में मौजूद था। वह कुछ देर तक फंसा रहा, लेकिन मैं किसी को विश्वविद्यालय ले जाने से मना नहीं कर रहा हूं क्योंकि मैं कुछ साल पहले बेरसराय क्षेत्र में रहा हूं इसलिए मैं इस स्थान को जानता हूं। मुझे कोई डर नहीं है।’’ गौरतलब है कि पांच जनवरी को कुछ नकाबपोश लोगों ने विश्वविद्यालय परिसर में घुसकर छात्रों और शिक्षकों पर हमला किया था।