BREAKING NEWS

प्रधानमंत्री मोदी ने सांसदों को दी कड़ी नसीहत-बच्चों को बार-बार टोका जाए तो उन्हें भी अच्छा नहीं लगता ...◾Winter Session: निलंबन वापसी के मुद्दे पर राज्यसभा में जारी गतिरोध, शून्यकाल और प्रश्नकाल हुआ बाधित ◾12 निलंबित सदस्यों को लेकर विपक्ष का समर्थन,संसद परिसर में दिया धरना, राज्यसभा की कार्यवाही स्थगित ◾JNU में फिर सुलगी नए विवाद की चिंगारी, छात्रसंघ ने की बाबरी मस्जिद दोबारा बनाने की मांग, निकाला मार्च ◾भारत में होने जा रहा कोरोना की तीसरी लहर का आगाज? ओमीक्रॉन के खतरे के बीच मुंबई लौटे 109 यात्री लापता ◾देश में आखिर कब थमेगा कोरोना महामारी का कहर, पिछले 24 घंटे में संक्रमण के इतने नए मामलों की हुई पुष्टि ◾लोकसभा में न्यायाधीशों के वेतन में संशोधन की मांग वाले विधेयक पर होगी चर्चा, कई दस्तावेज भी होंगे पेश ◾PM मोदी के वाराणसी दौरे से पहले 'गेरुआ' रंग में रंगी गई मस्जिद, मुस्लिम समुदाय में नाराजगी◾ओमीक्रॉन के बढ़ते खतरे के बीच दिल्ली फिर हो जाएगी लॉकडाउन की शिकार? जानें क्या है सरकार की तैयारी ◾यूपी : सपा और रालोद प्रमुख की आज मेरठ में संयुक्त रैली, सीट बटवारें को लेकर कर सकते है घोषणा ◾दिल्ली में वायु गुणवत्ता 'बहुत खराब' श्रेणी में दर्ज, प्रदूषण को कम करने के लिए किया जा रहा है पानी का छिड़काव ◾विश्व में वैक्सीनेशन के बावजूद बढ़ रहे है कोरोना के आंकड़े, मरीजों की संख्या हुई इतनी ◾सदस्यीय समिति को अभी तक सरकार से नहीं हुई कोई सूचना प्राप्त,आगे की रणनीति के लिए आज किसान करेंगे बैठक ◾ पीएम मोदी आज गोरखपुर को 9600 करोड़ रूपये की देंगे सौगात, खाद कारखाना और AIIMS का करेंगे लोकार्पण◾रूसी राष्ट्रपति पुतिन ने भारत को एक बहुत बड़ी शक्ति, वक्त की कसौटी पर खरा उतरा मित्र बताया◾पंजाब के मुख्यमंत्री ने पाकिस्तान के साथ सीमा व्यापार खोलने की वकालत की◾महाराष्ट्र में आए ओमिक्रॉन के 2 और नए केस, जानिए अब कितनी हैं देश में नए वैरिएंट की कुल संख्या◾देश में 'ओमिक्रॉन' के बढ़ते प्रकोप के बीच राहत की खबर, 85 फीसदी आबादी को लगी वैक्सीन की पहली डोज ◾बिहार में जाति आधारित जनगणना बेहतर तरीके से होगी, जल्द बुलाई जाएगी सर्वदीय बैठक: नीतीश कुमार ◾कांग्रेस ने पंजाब चुनाव को लेकर शुरू की तैयारियां, सुनील जाखड़ और अंबिका सोनी को मिली बड़ी जिम्मेदारी ◾

CCI ने दिल्ली HC को बताया- गूगल से संबंधित जांच की कोई जानकारी नहीं की लीक

भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (सीसीआई) ने सोमवार को दिल्ली उच्च न्यायालय में कहा कि गूगल के एंड्रॉयड स्मार्टफोन समझौतों की जांच से जुड़ी कोई जानकारी उसने मीडिया में लीक नहीं की है। भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग के कथन पर विचार करते हुए अदालत ने कहा कि गोपनीय जांच की जानकारी कथित तौर पर लीक होने के खिलाफ इंटरनेट कंपनी गूगल की याचिका में कोई दम नहीं है, इसके साथ ही अदालत ने याचिका का निबटारा कर दिया।

उच्च न्यायालय ने कहा कि यदि गूगल को सूचना लीक के बारे में अब भी कोई शिकायत है तो वह कानूनी राह अपनाने के लिए स्वतंत्र है। न्यायमूर्ति रेखा पल्ली ने कहा, ‘‘इस अदालत ने याचिकाकर्ता (गूगल) द्वारा किए गए इन दावों पर कोई राय व्यक्त नहीं की है कि यह प्रतिवादी 1 (सीसीआई) है जो उक्त कथित लीक के लिए जिम्मेदार है।’’

भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग की ओर से पेश अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल एन वेंटरमण ने कहा कि यह धारणा गलत थी कि जानकारी लीक हुई। उन्होंने गूगल के 23वें जन्मदिवस पर उसे बधाई देते हुए कहा, ‘‘सीसीआई गोपनीयता बनाकर रखना चाहता है।’’ गूगल ने एक बयान में कहा था कि 18 सितंबर 2021 को एक गोपनीय तथ्यान्वेषी अंतरिम रिपोर्ट महानिदेशक कार्यालय ने सीसीआई को सौंपी थी, जो मीडिया को लीक हो गई। यह रिपोर्ट गूगल के एंड्रॉयड स्मार्टफोन समझौतों की जारी जांच से संबंधित है।

महिलाओं के बाद अब पुरुषों के लिए तालिबान का फरमान- दाढ़ी बनाना और ट्रिम करना गुनाह, लगाई रोक