नई दिल्ली : मुख्यमंत्री केजरीवाल पर फेब्रिकेटेड मिर्च पाउडर हमले में आरोपी अनिल कुमार शर्मा को न्यायालय ने जमानत देने से इंकार कर दिया। आरोपी अनिल कुमार शर्मा ने बयान दिया है कि पहले उसे मुख्यमंत्री आवास बुलाया गया, इसके बाद आम आदमी पार्टी के नेताओं ने ही पब्लिसिटी स्टंट के लिए केजरीवाल पर मिर्च पाउडर डलवाया था।

इसके लिए मुख्यमंत्री आवास पर उसे सारे निर्देश दिए गए थे और यह सारा षड्यंत्र रचा गया। इस पर प्रतिक्रिया देते हुए दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि ये कोई नई बात नहीं है और न ही आश्चर्यचकित कर देने वाली बात है। तिवारी ने कहा कि हमने हमले के दिन से ही इसे फेब्रिकेटेड हमला नाम दे दिया था।

झूठ और अफवाह की राजनीति कर राजनीतिक स्वार्थपूर्ति के लिए केजरीवाल द्वारा यह हमला करवाया गया। उसके पीछे का कारण भी साफ था सचिवालय जैसी जगह जहां सुरक्षा के तमाम पुख्ता इंतजाम है वहां इस तरह की घटना का होना संदेह उत्पन्न करता है। ये मामला एक नजर में ही सुनियोजित तरीके से किया गया हमला था जिसका अंदेशा हमें पहले से ही था।

तिवारी ने कहा कि केजरीवाल पर ये हमला कोई नया नहीं है इससे पहले भी मीडिया के बीच सस्ती लोकप्रियता, औछी, घटिया राजनीति कर जनता के बीच सहानुभूति का खेल मुख्यमंत्री कई बार खेल चुके हैं। इस मामले में आम आदमी पार्टी ने किसी प्रकार की कोई टिप्पणी नहीं की।

मुख्यमंत्री केजरीवाल पर दिल्ली सचिवालय में हमला, आंखों में अज्ञात शख्स ने फेंका मिर्च पाउडर