BREAKING NEWS

जेसिका लाल हत्याकांड : उपराज्यपाल की अनुमति पर समय से पहले रिहा हुआ आरोपी मनु शर्मा ◾बाढ़ से घिरे असम के 3 जिलों में भूस्खलन, 20 लोगों की मौत, कई अन्य हुए घायल◾दिल्ली BJP अध्यक्ष पद से मनोज तिवारी का हुआ पत्ता साफ, आदेश गुप्ता को सौंपा गया कार्यभार◾दिल्ली हिंसा मामले में ताहिर हुसैन समेत 15 के खिलाफ दायर हुई चार्जशीट◾Covid-19 : अब घर बैठे मिलेगी अस्पतालों में खाली बेड की जानकारी, CM केजरीवाल ने लॉन्च किया ऐप◾कारोबारियों से बोले PM मोदी-देश को आत्मनिर्भर बनाने का लें संकल्प, सरकार आपके साथ खड़ी है◾ ‘बीएए3’ रेटिंग को लेकर राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर साधा निशाना, कहा-अभी तो स्थिति ज्यादा खराब होगी ◾कपिल सिब्बल का केंद्र पर तंज, कहा- 6 साल का बदलाव, मूडीज का डाउनग्रेड अब कहां गए मोदी जी?◾महाराष्ट्र और गुजरात में 'निसर्ग' चक्रवात का खतरा, राज्यों में जारी किया गया अलर्ट, NDRF की टीमें तैनात◾कोरोना वायरस : देश में महामारी से 5598 लोगों ने गंवाई जान, पॉजिटिव मामलों की संख्या 2 लाख के करीब ◾Covid-19 : दुनियाभर में वैश्विक महामारी का प्रकोप जारी, मरीजों की संख्या 62 लाख के पार पहुंची ◾डॉक्टर ने की जॉर्ज फ्लॉयड की हत्या की पुष्टि, कहा- गर्दन पर दबाव बनाने के कारण रुकी दिल की गति◾अमेरिका में कोरोना संक्रमितों की संख्या में बढ़ोतरी जारी, मरीजों की आंकड़ा 18 लाख के पार हुआ ◾भारत में कोविड-19 से ठीक होने की दर पहुंची 48.19 प्रतिशत,अब तक 91,818 लोग हुए स्वस्थ : स्वास्थ्य मंत्रालय ◾महाराष्ट्र में बीते 24 घंटे में कोरोना के 2,361 नए मामले, संक्रमितों का आंकड़ा 70 हजार के पार, अकेले मुंबई में 40 हजार से ज्यादा केस◾दिल्ली - NCR में सीएनजी प्रति किलो एक रुपये महंगी , जानिये अब क्या होंगी नयी कीमतें ◾कोविड-19 : CBI मुख्यालय में कोरोना ने दी दस्तक, दो अधिकारी संक्रमित ◾कोरोना के बीच, 9 जून को बिहार विधानसभा चुनाव का शंखनाद करेंगे अमित शाह, ऑनलाइन रैली कर जनता को करेंगे संबोधित ◾दिल्ली में कोरोना का कोहराम जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 20 हजार के पार, बीते 24 घंटे में 990 नए मामले◾50 लाख से ज्यादा रेहड़ी - पटरी वालों के लिए सरकार का बड़ा ऐलान, मिलेगा 10 हजार रुपये का लोन◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

कोरोना वायरस : शाहीन बाग में प्रदर्शन पर अड़ीं महिलाएं, पुलिस के साथ बातचीत रही विफल

देश दुनिया में अपना कहर फैलाने वाले कोरोना वायरस (Covid-19) के संक्रमण से बचाव के लिए केंद्र से लेकर राज्‍य सरकार पूरी तरह सतर्क है। इस कड़ी में दिल्‍ली में एक ही जगह पर 50 से अधिक लोगों की भीड़ जमा होने की अनुमति नहीं है। ऐसे में दिल्ली पुलिस और शाहीनबाग की महिला प्रदर्शनकारियों के बीच मंगलवार को एक बार फिर वार्ता हुई। 

पुलिस अधिकारियों ने यहां सीएए के खिलाफ धरना दे रही महिलाओं से मुख्य सड़क मार्ग को खाली करने की अपील की, लेकिन प्रदर्शनकारी महिलाओं ने पुलिस की अपील को दरकिनार करते हुए प्रदर्शन जारी रखने का ऐलान किया है। इसके फलस्वरूप पुलिस और प्रदर्शनकारी महिलाओं के बीच चल रही है वार्ता एक बार फिर से विफल हो गई। 

इससे पहले भी कई मर्तबा दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी शाहीनबाग की मुख्य सड़क पर बैठी महिला प्रदर्शनकारियों से बात करने आ चुके हैं। मंगलवार को पुलिस और प्रदर्शनकारी महिलाओं के बीच वार्ता के लिए एक निष्पक्ष स्थान का चुनाव किया गया था। 

Coronavirus : उत्तर प्रदेश में सभी स्कूल, कॉलेज और सिनेमाघर 2 अप्रैल तक बंद, परीक्षाएं भी स्थगित

शाहीन बाग में चल रहे प्रदर्शन से करीब 100 मीटर दूर स्थित चौराहे पर पुलिस और महिला प्रदर्शनकारियों के बीच यह बातचीत हुई। यहां पुलिस की ओर से स्थानीय एसएचओ और एसीपी जगदीश यादव मौजूद थे। वहीं प्रदर्शनकारियों की ओर से करीब 20 महिलाएं इस वार्ता में शामिल हुईं। 

महिलाओं से बातचीत के दौरान एसीपी जगदीश यादव ने कहा आप पिछले कई महीनों से यहां प्रदर्शन कर रही हैं, इस दौरान हमने आपको पूरी सुरक्षा मुहैया कराई है। हमारा आपसे निवेदन है कि आप मुख्य सड़क मार्ग खाली करके किसी और स्थान को अपने प्रदर्शन के लिए चुनें। 

पुलिस के आग्रह का सभी प्रदर्शनकारी महिलाओं ने एक स्वर में विरोध किया। इसके बाद एसीपी यादव ने महिलाओं से कहा कि आप सड़क का दूसरा हिस्सा वाहनों की आवाजाही के लिए खाली कर दें। दरअसल, पुलिस चाहती है कि शाहीनबाग की जिस सड़क पर नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ यह धरना दिया जा रहा है, उस सड़क का सामने वाला हिस्सा वाहनों की आवाजाही के लिए खोल दिया जाए।

भारत में कोरोना वायरस से तीसरी मौत, 128 पहुंची संक्रमित लोगों की संख्या

लेकिन प्रदर्शनकारी महिलाओं ने इससे भी इनकार कर दिया। पुलिस के साथ बातचीत के लिए आई फातिमा ने कहा, सड़क का दूसरा हिस्सा खोलने पर हमारी सुरक्षा को खतरा है, इसलिए हम इसके लिए हामी नहीं भर सकते। इसके बाद पुलिसकर्मी चर्चा को आगे बढ़ाते इससे पहले ही बातचीत के लिए आई तमाम महिलाएं नारेबाजी करती हुई वापस धरना स्थल पर चली गईं। 

बता दें कि अगले सप्ताह इस मामले को लेकर अदालत में सुनवाई होनी है। इस सुनवाई से पहले पुलिस शांतिपूर्ण वार्ता के जरिए इस मसले का हल खोजने की कोशिश कर रही है। वापस धरना स्थल पर लौटने के बाद इन महिलाओं ने प्रदर्शन पर बैठी बाकी महिलाओं को बताया कि पुलिस सड़क का दूसरा हिस्सा यातायात के लिए खाली करवाना चाहती है। तब धरना दे रही सभी महिलाओं ने एक स्वर में इससे इंकार कर दिया। धरना दे रही अधिकांश महिलाओं का कहना है कि सरकार पहले नागरिकता संशोधन कानून को वापस ले, उसके बाद ही यह धरना समाप्त किया जाएगा।