BREAKING NEWS

बिहार से असम तक तैयार हो रहा 4 लेन का एक्सप्रेसवे, इन जिलों को मिलने वाला है फायदा ◾अडाणी विवाद को लेकर बोलें शशि थरूर, कहा- संसद में चर्चा नहीं होने दे रही है सरकार◾त्रिपुरा चुनाव: वाम गठबंधन ने जारी किया घोषणापत्र, किए ये वादे ◾मनीष सिसोदिया ने बदले एक दर्जन से ज्यादा फोन, दूसरे नामों से खरीदे Sim cards, शराब घोटाले को लेकर ED ने किए कई बड़े दावे◾आर्थिक कंगाली के बीच अब 'पाकिस्तान 18 दिनों तक ही कर पाएगा अपना गुजारा' ◾पश्चिम बंगाल : चार बांग्लादेशी घुसपैठियों को सशस्त्र सीमा बल के जवानों ने दबोचा◾2019 से राष्ट्रपति की विदेश यात्राओं पर सवा छह करोड़ रुपये खर्च हुए◾भाजपा-ठाकरे गुट में तनातनी: संजय राउत ने 'आधारहीन आरोप' लगाने के लिए नारायण राणे को भेजा कानूनी नोटिस◾चीन: अमेरिकी वायु क्षेत्र में जासूसी गुब्बारा उड़ने की रिपोर्ट पर गौर कर रहे हैं◾ब्रिटेन के PM के रूप में 100 दिनों पर सुनक को औसत ग्रेड◾असम : बाल विवाह करने वालों की अब खैर नहीं, सरकार ने शुरू की मुहिम, 1,800 लोगों की हुई गिरफ़्तारी ◾कंझावला कांड : सच साबित हुई निधि की बात, हादसे के वक्त शराब के नशे में थी अंजलि, विसरा रिपोर्ट में हुआ खुलासा◾ संबंधों को सामान्य करने के लिए समझौते पर हस्ताक्षर करेंगे' 'इजराइल और सूडान◾SC ने किया BBC की Documentary पर तुरंत बैन हटाने से इनकार, केंद्र सरकार से मांगे Original दस्तावेज◾SC को जल्द मिलेंगे 5 नए जज, केंद्र सरकार ने कॉलेजियम की सिफारिश को मंजूरी देने का आश्वासन दिया ◾बढ़ती महंगाई के बीच देश में आटे की कीमत घटी, '6 फरवरी से नए दर पर मिलेगा आटा' ◾अडाणी ग्रुप को लेकर लोकसभा में विपक्ष का हंगामा, कार्यवाही हुई स्थगित◾अदाणी विवाद पर बोलें सभापति धनखड़, कहा- मेरे फैसले की लगातार अवहेलना हुई ◾Adani Enterprises अमेरिकी बाजार के Dow Jones Sustainability Index से बाहर, Share में 35 प्रतिशत की गिरावट◾हिंडनबर्ग-अदानी मुद्दे पर रणनीति बनाने के लिए 16 पार्टियों के सांसदों की हुई बैठक◾

यासीन मलिक की सजा पर कुछ देर में फैसला, NIA ने सजा-ए-मौत का किया अनुरोध

कश्मीरी अलगाववादी नेता यासीन मलिक की सजा पर कुछ ही देर में फैसला आने वाला है। दिल्ली की अदालत आज हुई सुनवाई के बाद अपना फैसला सुरक्षित रख लिया। अदालत 3:30 बजे फैसला सुनाएगी। वहीं राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने यासीन मलिक के लिए मौत की सजा की मांग की है।

मलिक को आज कड़ी सुरक्षा के बीच पटियाला हाउस कोर्ट में पेश किया गया। अदालत के सूत्रों के अनुसार, विशेष न्यायाधीश के समक्ष सुनवाई के दौरान, एनआईए ने मलिक को मौत की सजा के लिए तर्क दिया। लंच ब्रेक के लिए रुकी हुई सुनवाई दोपहर 3.30 बजे फिर से शुरू होगी।

19 मई को हुई सुनवाई में विशेष न्यायाधीश प्रवीण सिंह ने मलिक के खिलाफ लगाए गए अपराधों के लिए सजा के संबंध में दलीलों को सुनने के लिए मामले को 25 मई की तारीख तय की थी। अदालत ने बुधवार की सुनवाई से पहले राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) के अधिकारियों को टेरर फंडिंग मामले में उसकी वित्तीय स्थिति का आकलन करने का भी निर्देश दिया था।

'वंदे मातरम' को 'जन गण मन' के साथ समान दर्जा देने को लेकर याचिका, HC ने केंद्र को जारी किया नोटिस

अभियुक्त को अधिकतम मृत्युदंड की सजा का सामना करना पड़ सकता है, जबकि न्यूनतम सजा उन मामलों में आजीवन कारावास हो सकती है, जिनमें वह शामिल है। गौरतलब है कि पिछली सुनवाई में यासीन ने अपने वकील को वापस ले लिया था। उसने पहले ही अपना अपराध स्वीकार कर लिया था, और अब सुनवाई के दौरान कुछ भी कहने के लिए नहीं बचा था। 

यासीन मलिक पर देश के खिलाफ युद्ध छेड़ने, गैरकानूनी गतिविधियों में शामिल होने और कश्मीर में शांति को भंग करने, टेरर फंडिंग में शामिल होने के आरोप है। उसने इस मामले में अपना गुनाह कबूल कर लिया था। सुनवाई की आखिरी तारीख को उसने अदालत को बताया कि वह धारा 16 (आतंकवादी कृत्य), 17 (आतंकवादी कृत्यों के लिए धन जुटाना), 18 (आतंकवादी कृत्य की साजिश) और धारा 20 (आतंकवादी गिरोह या संगठन का सदस्य होना) तथा भारतीय दंड संहिता की धारा 120-बी (आपराधिक षडयंत्र) और 124-ए (राजद्रोह) के तहत अपराधी है। 

वर्तमान मामला विभिन्न आतंकवादी संगठनों लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी), हिज्बुल-मुजाहिदीन (एचएम), जम्मू-कश्मीर लिबरेशन फ्रंट (जेकेएलएफ) और जैश-ए-मोहम्मद (जेएम) से संबंधित है। इसने जम्मू-कश्मीर की स्थिति को बिगाड़ने के लिए आतंकवादी और अलगाववादी गतिविधियों को अंजाम दिया।