BREAKING NEWS

पंजाब के मुख्यमंत्री ने पाकिस्तान के साथ सीमा व्यापार खोलने की वकालत की◾महाराष्ट्र में आए ओमिक्रॉन के 2 और नए केस, जानिए अब कितनी हैं देश में नए वैरिएंट की कुल संख्या◾देश में 'ओमिक्रॉन' के बढ़ते प्रकोप के बीच राहत की खबर, 85 फीसदी आबादी को लगी वैक्सीन की पहली डोज ◾बिहार में जाति आधारित जनगणना बेहतर तरीके से होगी, जल्द बुलाई जाएगी सर्वदीय बैठक: नीतीश कुमार ◾कांग्रेस ने पंजाब चुनाव को लेकर शुरू की तैयारियां, सुनील जाखड़ और अंबिका सोनी को मिली बड़ी जिम्मेदारी ◾दुनिया बदलीं लेकिल हमारी दोस्ती नही....रूसी राष्ट्रपति पुतिन से मुलाकात में बोले PM मोदी◾UP चुनाव को लेकर प्रियंका ने बताया कैसा होगा कांग्रेस का घोषणापत्र, कहा- सभी लोगों का विशेष ध्यान रखा जाएगा◾'Omicron' के बढ़ते खतरे के बीच MP में 95 विदेशी नागरिक हुए लापता, प्रशासन के हाथ-पांव फूले ◾महबूबा ने दिल्ली के जंतर मंतर पर दिया धरना, बोलीं- यहां गोडसे का कश्मीर बन रहा◾अखिलेश सरकार में होता था दलितों पर अत्याचार, योगी बोले- जिस गाड़ी में सपा का झंडा, समझो होगा जानामाना गुंडा ◾नागालैंड मामले पर लोकसभा में अमित ने कहा- गलत पहचान के कारण हुई फायरिंग, SIT टीम का किया गया गठन ◾आंग सान सू की को मिली चार साल की जेल, सेना के खिलाफ असंतोष, कोरोना नियमों का उल्लंघन करने का था आरोप ◾शिया बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष वसीम रिजवी ने अपनाया हिंदू धर्म, परिवर्तन को लेकर दिया बड़ा बयान, जानें नया नाम ◾इशारों में आजाद का राहुल-प्रियंका पर तंज, कांग्रेस नेतृत्व को ना सुनना बर्दाश्त नहीं, सुझाव को समझते हैं विद्रोह ◾सदस्यों का निलंबन वापस लेने के लिए अड़ा विपक्ष, राज्यसभा में किया हंगामा, कार्यवाही स्थगित◾राज्यसभा के 12 सदस्यों का निलंबन के समर्थन में आये थरूर बोले- ‘संसद टीवी’ पर कार्यक्रम की नहीं करूंगा मेजबानी ◾Winter Session: निलंबन के खिलाफ आज भी संसद में प्रदर्शन जारी, खड़गे समेत कई सांसदों ने की नारेबाजी ◾राजनाथ सिंह ने सर्गेई लावरोव से की मुलाकात, जयशंकर बोले- भारत और रूस के संबंध स्थिर एवं मजबूत◾IND vs NZ: भारत ने न्यूजीलैंड को 372 रन से करारी शिकस्त देकर रचा इतिहास, दर्ज की सबसे बड़ी टेस्ट जीत ◾विपक्ष ने लोकसभा में उठाया नगालैंड का मुद्दा, घटना ने देश को झकझोर कर रख दिया, बिरला ने कही ये बात ◾

लॉकडाउन के बाद पटरी पर आ रही दिल्ली, बार-रेस्तरां मालिकों ने फुल ऑक्यूपेंसी के साथ खुलने की लगाई उम्मीद

दिल्ली में बार और रेस्तरां को करीब दो महीने तक बंद रहने के बाद 50 फीसदी ऑक्यूपेंसी पर डाइनिंग स्पेस को फिर से खोलने की अनुमति दे दी गई है। हालांकि, मालिक अब फुल ऑक्यूपेंसी के लिए अपनी उम्मीदें लगा रहे हैं क्योंकि वे व्यापार को पटरी पर लाने के लिए 50 प्रतिशत प्रतिबंध को एक बड़ी बाधा मानते हैं। शहर के अधिकांश रेस्तरां और बार प्रबंधकों को लगता है कि हालांकि लॉकडाउन के बाद के दौर में व्यवसाय धीरे-धीरे पटरी पर आ रहे हैं, लेकिन डाइन-इन सेवा में व्यस्तता में छूट उद्योग के लिए वरदान साबित हो सकती है।

कनॉट प्लेस में डाइन-आउट 38 बैरक रेस्तरां के प्रबंधक पुष्पेंद्र ने कहा, व्यापार अब सामान्य हो रहा है, लेकिन हम केवल 50 प्रतिशत ऑक्यूपेंसी के नियम का पालन करने के लिए मजबूर हैं जो हमारे दैनिक बिक्री को प्रभावित करता है। दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) ने राजधानी में रेस्तरां और बार के खुलने का समय बढ़ा दिया है। 50 प्रतिशत बैठने की क्षमता प्रतिबंध के साथ रेस्तरां और बार को अब मध्यरात्रि में 12 बजे अपने सामान्य समापन समय तक खुले रहने की अनुमति है।

सिनसिटी क्लब के अधिकारी ने कहा, आधी रात तक बढ़ा हुआ समय हमारे व्यवसाय के लिए अच्छा साबित हुआ है, लेकिन हम लॉकडाउन के बाद की अवधि में बेहतर की उम्मीद करते हैं। 50 प्रतिशत ऑक्यूपेंसी प्रतिबंध व्यवसाय को प्रभावित करता है। कनॉट प्लेस में ओएमजी कैफे प्रबंधक बी.एस. रावत ने कहा, हमें सप्ताहांत पर अच्छी भीड़ मिलती है, लेकिन सप्ताह के दिनों में हम बार में आने वाले लोगों की संख्या में काफी गिरावट देखते हैं। यहां तक कि कॉरपोरेट बैठकें और पार्टियां भी सामाजिक दूरियों के मानदंडों के कारण आयोजित नहीं की जा रही हैं, जिनका उद्योग पर प्रभाव पड़ रहा है।

रावत ने कहा, जैसा कि हमने कोविड के दो उछाल देखे हैं, लोग बजट की कमी का सामना कर रहे हैं और वे भविष्य के लिए बचत करने को तैयार हैं। अगर पर्यटक रेस्तरां में जाना शुरू करते हैं, तो हम उद्योग में पुनरुद्धार के लिए आशान्वित हो सकते हैं। खान मार्केट में मल्टी कुजीन ममागोटा रेस्टोरेंट मैनेजर सत्येंद्र का कहना है कि करीब 90 फीसदी कारोबार पटरी पर आ गया है। एशियाई महाद्वीपीय भोजन परोसने वाले रेस्तरां में नियमित रूप से एक घंटे की प्रतीक्षा की जाती है। 

जैसा कि हमारे पास केवल 50 प्रतिशत ऑक्यूपेंसी का प्रतिबंध है और खाद्य वितरण सेवा बढ़ रही है जो अंतत: हमारे कुल राजस्व के लिए बनाता है। द चटर हाउस के प्रबंधक प्रशांत ने बताया, रेस्तरां में लंबे समय तक इंतजार करने के कारण उद्योग 70 से 80 प्रतिशत तक पुनर्जीवित हो गया है। हालांकि, हम 50 प्रतिशत ऑक्यूपेंसी मानदंड का पालन करते हैं। हर दिन फुटफॉल बढ़ रहा है। जिसके कारण लंबे समय तक प्रतीक्षा की जाती है। खान मार्केट में इटैलियन रेस्तरां तेरा वीटा के मैनेजर रितिक चौधरी का कहना है कि मेहमानों को बाहर आने और खुद का आनंद लेने में कोई संकोच नहीं है। 

उन्हें अब कोविड संक्रमण का डर नहीं है क्योंकि उनमें से अधिकांश को अब पूरी तरह से टीका लगाया जा चुका है और दैनिक मामलों में भी गिरावट आ रही है। उन्होंने कहा कि सप्ताहांत पर रेस्तरां पूरी तरह से खचाखच भरा रहता है और सप्ताह के दिनों में 80 से 90 प्रतिशत लोग आते हैं। यहां तक कि सीमित बैठने की क्षमता और अन्य सुरक्षा प्रोटोकॉल जैसे कि सामाजिक गड़बड़ी के साथ, बार और रेस्तरां उद्योग दिल्ली में पोस्ट-लॉकडाउन युग में पुनर्जीवित होने की राह पर हैं। हालांकि, वे पूर्व-कोविड समय की तरह व्यापार को फिर से फलते-फूलते देखने के लिए पूर्ण ऑक्यूपेंसी की उम्मीद करते हैं।